समाचार
|| भारतमाला योजना में प्रदेश में 5,987 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग स्वीकृत || प्रदेश में 1500 मेगावॉट के तीन सौर ऊर्जा पार्क बनेंगे || मानसून पूर्व पुनर्वास स्थलों पर सभी सुविधाएँ सुदृढ़ करें || मेधावी छात्र प्रोत्साहन योजना में लेपटॉप वितरण कार्यक्रम 28 मई को || नगरीय निकायों की सेवाएँ ऑनलाइन करने वाला मध्यप्रदेश पहला राज्य : श्रीमती माया सिंह || प्रदेश के हित में रिसर्च को प्रोत्साहित करें- मंत्री श्री गुप्ता || मेडिकल कॉलेज जबलपुर में सहायक प्राध्यापक एवं प्रदर्शक पदों पर सीधी भर्ती || हज-2018 की द्वितीय एवं अंतिम किश्त जमा करने की अंतिम तिथि आज || मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना में संशोधन || मॉ तुझे प्रणाम योजनान्तर्गत युवा अंतर्राष्ट्रीय बार्डर पेट्रापोल जायेंगे
अन्य ख़बरें
अतिविशिष्ट व्यक्तियों के कार्यक्रम संभाग के किसी भी जिले में हों तो संभागीय मुख्यालय स्तर से भी कव्हरेज किया जाये –आयुक्त जनसम्पर्क
राज्य स्तरीय कार्यक्रमों के समाचार स्थानीय अखबारों में प्रमुखता के साथ प्रकाशित हों, शासन की कल्याणकारी योजनाओं के प्रचार-प्रसार में कोई कमी नहीं आये, जनसम्पर्क विभाग की वीडियो कॉन्फ्रेंस आयोजित
उज्जैन | 10-मई-2018
 
   
   गुरूवार को जनसम्पर्क विभाग की वीडियो कॉन्फ्रेंस जनसम्पर्क आयुक्त श्री पी.नरहरि द्वारा ली गई। इस दौरान भोपाल एनआईसी कक्ष में संचालक श्री अनिल माथुर, अपर संचालक श्री एलआर सिसौदिया, श्री सुरेश गुप्ता, श्री मंगला मिश्रा, संयुक्त संचालक श्री जीएस वाधवा, श्री मनोज खरे एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण मौजूद थे। आयुक्त श्री नरहरि द्वारा सभी संभागीय एवं जिला जनसम्पर्क अधिकारियों को निर्देश दिये गये कि संभाग के किसी भी जिले में यदि राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं, तो उनका संभागीय मुख्यालय स्तर से  कव्हरेज किया जाना चाहिये। स्थानीय अखबारों में प्रमुख कार्यक्रम एवं राज्य स्तरीय कार्यक्रम प्रमुखता के साथ प्रकाशित किया जाना सुनिश्चित किया जाये। इसके लिये अधिकारी अपने स्तर से स्थानीय प्रमुख अखबारों से समन्वय स्थापित करें। राज्य शासन की सभी प्रमुख कल्याणकारी योजनाओं के प्रचार-प्रसार में कोई कमी नहीं आनी चाहिये।
   कॉन्फ्रेंस में बताया गया कि विगत वीसी में संभाग प्रमुख अधिकारियों को निर्देश दिये गये थे कि वे अपने अधीनस्थ जिलों का समय-समय पर निरीक्षण कर प्रतिवेदन प्रेषित करें। इसमें उज्जैन संभाग में अच्छा कार्य हुआ है।
   आयुक्त जनसम्पर्क ने निर्देश दिये कि मुख्यमंत्री के संभाग या जिले में भ्रमण के दौरान स्थानीय हितग्राहियों से चर्चा कर शासन द्वारा उन्हें प्रदाय की गई योजनाओं का फीडबैक प्राप्त करें और स्थानीय अखबारों में प्रकाशित करवायें।
अधिमान्य पत्रकारों से टोल टैक्स न वसूला जाये
   वीसी में आयुक्त श्री नरहरि ने बताया कि कई पत्रकारों से ये शिकायत प्राप्त हो रही है कि उनके पास अधिमान्यता कार्ड होने के बावजूद टोल नाकों पर टैक्स की वसूली की जा रही है। इस सम्बन्ध में एक गजट नोटिफिकेशन सभी कार्यालयों को मुख्यालय से भेजा गया है। यह नोटिफिकेशन सभी टोल नाके के मैनेजर्स को प्रेषित किया जाये, जिससे अधिमान्य पत्रकारों को किसी तरह की असुविधा न हो।
   सभी अधिकारी संभागीय स्तर पर अधिमान्यता सम्बन्धी बैठकों का आयोजन समय-समय पर करें। ऐसे वरिष्ठ पत्रकार, जिनके किसी कारणवश अधिमान्यता कार्ड नहीं बन सके हैं, उनके फार्म भरवा कर मुख्यालय भिजवाये जायें। इसके अलावा पत्रकार सम्मान निधि के अन्तर्गत जो बुजुर्ग पत्रकार पात्र हैं, उनके भी फार्म मुख्यालय भिजवाये जायें। वरिष्ठ पत्रकारों के कल्याण के लिये आगे आकर पहल करें।
   कॉन्फ्रेंस में जानकारी दी गई कि उज्जैन जिले से डिस्ट्रिक्ट न्यूज पोर्टल पर 422 समाचार जारी हुए हैं। इसके अलावा जिन जिलों में 300 से अधिक समाचार जारी किये गये हैं, उन्हें प्रसन्नता पत्र जारी किये जायेंगे। सफलता की कहानियों की संख्या भी निरन्तर बढ़ती जा रही है, जो कि अत्यन्त हर्ष का विषय है। आयुक्त ने निर्देश दिये कि आगामी समय में कुछ न्यूज चैनल्स भी सक्सेस स्टोरीज पर फिल्म बनाने के लिये विभिन्न जिलों में भ्रमण करेंगे। सभी अधिकारी उन्हें आवश्यक सहयोग प्रदाय करें। ये फिल्में राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाले विभिन्न जनकल्याणकारी कार्यक्रमों में प्रदर्शित की जायेंगी। अपने-अपने जिलों में ऐसे हितग्राही, जो शासन की विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित हुए हैं तथा जिन्होंने एक मिसाल पेश की है, उनका चिन्हांकन किया जाये।
सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर कोई भी अशासकीय अथवा राजनैतिक गतिविधियां न डालें
   आयुक्त जनसम्पर्क ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिये कि वर्तमान में जनसम्पर्क विभाग द्वारा सोशल नेटवर्किंग साइट्स के माध्यम से शासन की कल्याणकारी योजनाओं का प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। इसमें काफी बदलाव देखने को मिल रहा है। फेसबुक और ट्वीटर पर संभाग और जिला स्तर पर कमिश्नर, कलेक्टर, संयुक्त संचालक और पीआरओ के अकाउंट बनाये गये हैं। डिवीजनल कमिश्नर और पीआरओ के ट्वीटर अकाउंट में उज्जैन टॉप-5 जिलों में आया है। इसके अलावा कमिश्नर उज्जैन के फेसबुक अकाउंट में भी उज्जैन जिले ने टॉप-5 में जगह बनाई है। आयुक्त ने कहा कि सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर किसी भी तरह की अशासकीय या राजनैतिक गतिविधियां न डाली जायें। व्यक्तिगत या स्थानीय राजनीति से सम्बन्धित समाचार या मामले भी साइट्स पर न डाले जायें। राजनैतिक व्यक्तियों की गतिविधियों से सम्बन्धित समाचार भी नेटवर्किंग साइट्स पर न डाले जायें।
   आयुक्त जनसम्पर्क ने निर्देश दिये कि ट्वीटर पर किसी भी ऐसे व्यक्ति को फॉलो न किया जाये, जिसकी पृष्ठभूमि विवादित रही हो। सोशल नेटवर्किंग साइट्स के माध्यम से यदि आम जनता की कोई समस्या सामने आती है तो सम्बन्धित विभाग तक उन समस्याओं को पहुंचाया जाये, ताकि उनका समाधान हो सके।
   उन्होंने कहा कि जन-सामान्य में मुख्यमंत्री के भावनात्मक जुड़ाव से सम्बन्धित समाचार जारी करें, जिसमें जनता और मुख्यमंत्री के बीच भावनात्मक पहलु का दृष्टिकोण हो। इसके अलावा मुख्यमंत्री के कार्यक्रम और भ्रमण से सम्बन्धित समाचार शीघ्र-अतिशीघ्र मुख्यालय भेजे जायें। कॉन्फ्रेंस के दौरान उज्जैन एनआईसी कक्ष में प्रभारी संयुक्त संचालक श्री पंकज मित्तल, सहायक संचालक सुश्री अनुभा सिंह एवं सहायक जनसम्पर्क अधिकारी श्री हरिशंकर शर्मा मौजूद थे।       
(13 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2018जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
30123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer