समाचार
|| अब युवाओं को उनकी योग्यतानुसार मिलेगा रोजगार || कमिश्नर श्री दुबे आज दमोह जायेंगे || आतंकवाद और हिंसा का डटकर करेंगे विरोध || एससी/एसटी परीक्षार्थियों के लिए निःशुल्क प्रशिक्षण || निर्वाचक नामावली का विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम || जिला पंचायत की शिक्षा स्थाई समिति की बैठक 31 मई को || मतदाता सूची के वार्षिक पुनरीक्षण हेतु प्रेक्षक श्री चंदेल नियुक्त || जनसुनवाई के माध्यम से आम लोगों की समस्याओं का निदान - कलेक्टर || प्रशासनिक व्यवस्थाओं में कसावट लाने हेतु निरीक्षण उपयोगी - कलेक्टर || विद्युत अवरोध पर कॉलसेंटर के फोन नं. 0755-2551222 पर दर्ज कराएं शिकायतें
अन्य ख़बरें
जॉब फेयर से दिलीप को मिली सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी "सफलता की कहानी"
-
शिवपुरी | 09-मई-2018
 
  
   आजीविका कौशल विकास योजना के तहत आयोजित हो रहे रोजगार मेले (जॉब फेयर) जरूरतमंद शिक्षित बेरोजगारों को रोजगार दिलाने में काफी मददगार साबित हो रहे है, शिवपुरी जिले के ग्राम बिलोकलां के शिक्षित बेरोजगार श्री दिलीप ओझा के लिए भी जॉबफेयर मददगार साबित हुआ। जॉब फेयर के माध्यम से दिलीप को आज मणपुरम फाइनेंस कंपनी शिवपुरी में सिक्योरिटी गार्ड के रूप में 12 हजार रूपए प्रतिमाह वेतन प्राप्त कर रहे है। जिससे दिलीप अपने माता-पिता सहित दो बहनों के साथ बेहतर जीवन निर्वाहन कर रहे है।
   श्री दिलीप ने बताया कि आजीविका कौशल विकास योजना के तहत अक्टूबर 2017 में सतनवाड़ा में जॉब फेयर का आयोजन किया गया। जिसमें विभिन्न पदों के लिए शिक्षित बेरोजगारों की परीक्षा आयोजित की गई। जिसमें सिक्योरिटी इंटेलिजेंस सर्विस (एसआईएस) में सिक्योरिटी गार्ड के रूप में चयन हुआ। चयन उपरांत अनूपपुर जिले में एक माह का आरडीसी सिक्योरिटी गार्ड का प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण के तत्काल बाद ही 9 हजार रूपए प्रतिमाह के वेतन पर नोएडा में सिक्योरिटी गार्ड के पद पर प्रथम नौकरी मिली। लेकिन नोएडा शिवपुरी से काफी दूर होने के कारण परिवार की देखभाल सही ढंग से नहीं कर पा रहा था। वहां से नौकरी छोड़कर शिवपुरी में मणपुरम फाइनेंस कंपनी में 12 हजार रूपए प्रतिमाह के वेतन पर सिक्योरिटी गार्ड के पद पर सेवाए दे रहा है।
   उन्होंने बताया कि उनके दो बहनें भी आगे शिक्षा प्राप्त कर सके। इसके लिए शिवपुरी में रहकर वे अपने आगे की शिक्षा ग्रहण कर रही है। गांव में उनके पिता के पास मुश्किल से 4 बीघा जमीन थी। जिससे बड़ी मुश्किल से गुजारा हो पाता था। लेकिन आज सिक्योरिटी गार्ड के पद पर 12 हजार प्रतिमाह के वेतन से परिवार का भी भरण पोषण अच्छे ढंग से हो रहा है, जिससे परिवार में भी समृद्धि आई है। पिछले दिनों खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया के मुख्य आतिथ्य में आयोजित ‘‘आजीविका कौशल विकास दिवस’’ पर श्री दिलीप ने अपने अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि आजीविका मिशन के तहत अगर जॉब फेयर आयोजित न होता, तो वे भी बेरोजगार होते और खेतों पर मजदूरी करते। आजीविका मिशन योजना को शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि उन्हें सिक्योरिटी गार्ड के पद पर सेवा देने पर गांव में पूरे परिवार को सम्मान मिलने के साथ-साथ गांववासी कहते है कि हमारे गांव का लड़का श्री दिलीप ने गांव का गौरव बढ़ाया है।
(13 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2018जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
30123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer