समाचार
|| भारतमाला योजना में प्रदेश में 5,987 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग स्वीकृत || प्रदेश में 1500 मेगावॉट के तीन सौर ऊर्जा पार्क बनेंगे || मानसून पूर्व पुनर्वास स्थलों पर सभी सुविधाएँ सुदृढ़ करें || मेधावी छात्र प्रोत्साहन योजना में लेपटॉप वितरण कार्यक्रम 28 मई को || नगरीय निकायों की सेवाएँ ऑनलाइन करने वाला मध्यप्रदेश पहला राज्य : श्रीमती माया सिंह || प्रदेश के हित में रिसर्च को प्रोत्साहित करें- मंत्री श्री गुप्ता || मेडिकल कॉलेज जबलपुर में सहायक प्राध्यापक एवं प्रदर्शक पदों पर सीधी भर्ती || हज-2018 की द्वितीय एवं अंतिम किश्त जमा करने की अंतिम तिथि आज || मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना में संशोधन || मॉ तुझे प्रणाम योजनान्तर्गत युवा अंतर्राष्ट्रीय बार्डर पेट्रापोल जायेंगे
अन्य ख़बरें
निर्वाचन के काम में सतर्कता बरती जाये
शिकायतों का त्वरित निराकरण होना चाहिये, गड़बड़ी होने पर सम्बन्धित अधिकारी जिम्मेदार होंगे, ईआरओ और एईआरओ का संभाग स्तरीय प्रशिक्षण सम्पन्न
उज्जैन | 02-मई-2018
 
 
   संभागायुक्त श्री एमबी ओझा की मौजूदगी में सिंहस्थ मेला कार्यालय के सभाकक्ष में ईआरओ और एईआरओ का संभाग स्तरीय प्रशिक्षण सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर संभागायुक्त श्री ओझा ने संभाग के समस्त ईआरओ और एईआरओ को निर्देश दिये कि निर्वाचन के काम में सतर्कता बरती जाये। अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र की प्राप्त शिकायतों एवं आयोग द्वारा चाही गई जानकारी का त्वरित निराकरण किया जाना चाहिये। निर्वाचन के काम में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी होने पर सम्बन्धित अधिकारी जिम्मेदार होंगे।
   संभागायुक्त श्री एमबी ओझा ने समस्त सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जाना सुनिश्चित किया जाये। चुनाव की प्रक्रिया को पूर्ण करने में हम सबकी पूर्ण ईमानदारी से महती भूमिका का निर्वहन होना चाहिये। निर्वाचन का कार्य समय-सीमा में पूरा किया जाये। मतदाता सूची में नाम जोड़ना, हटाने के कार्य में बीएलओ की महत्वपूर्ण भूमिका है। इसलिये अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र में काम करने वाले समस्त बीएलओ के कार्य की समय-समय पर मॉनीटरिंग की जाये। मतदाता सूची में नामों का डुप्लीकेशन नहीं होना चाहिये। ईआरओ और एईआरओ निर्वाचन आयोग के द्वारा समय-समय पर दिये गये निर्देशों का पूर्ण मनोयोग से अध्ययन कर पालन किया जाना सुनिश्चित किया जाये। अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र में निर्वाचन से सम्बन्धित बैठकों का आयोजन ईआरओ के द्वारा समय-समय पर कर लिया जाये। निर्वाचन के कार्य में अधिकारी अति आत्मविश्वास में न रहें। गंभीरता से निर्वाचन के कार्यों को अंजाम दिया जाये।
   बैठक में संभागायुक्त ने निर्देश दिये कि अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र में मतदाता परिचय-पत्रों को सम्बन्धित मतदाता के पास पहुंचाया जाना भी सुनिश्चित किया जाये। इस मामले में कहीं से किसी भी प्रकार की शिकायत न आये। उन्होंने निर्देश दिये कि गत चुनाव में कई प्रकार की शिकायतें प्राप्त हुई होंगी, उन शिकायतों का पुनरावलोकन कर लिया जाये। संभागायुक्त ने बैठक में अवगत कराया कि 4 मई को आयोग द्वारा वीसी ली जायेगी, इसलिये निर्वाचन से सम्बन्धित जानकारी अपडेट की जाये। आने वाले समय में निर्वाचन से सम्बन्धित कार्यों के लिये आयोग के वरिष्ठ अधिकारियों के द्वारा समय-समय पर बैठकें, वीसी आदि लेंगे, इसलिये अधिकारी अपडेट रहें।
   उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती शैली कनाश एवं ई-गवर्नेंस मैनेजर श्री अंकितसिंह ने पॉवर पाइन्ट प्रजेंटेशन के माध्यम से निर्वाचन की प्रक्रिया आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी और मोबाइल एप, ईआरओ नेट, बीएलओ नेट, यूएनपीईआर तथा एनव्हीएसपी आदि के बारे में तकनीकी जानकारी से प्रशिक्षणार्थियों को अवगत कराया। इस दौरान उज्जैन कलेक्टर श्री मनीष सिंह, संयुक्त आयुक्त श्री प्रतीक सोनवलकर, अपर कलेक्टर श्री बसन्त कुर्रे, एडीएम श्री जीएस डाबर सहित उज्जैन संभाग के समस्त एसडीएम एवं तहसीलदार आदि उपस्थित थे।        
(21 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2018जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
30123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer