समाचार
|| पहले 5 हजार, अब 15 हजार रुपये कमाते हैं हीरा (सफलता की कहानी) || नवोदय विद्यालय की प्रवेश परीक्षा 21 अप्रैल को || जिले में 22 अप्रैल को होगा नेशनल लोक अदालत का आयोजन || राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के सदस्‍य श्री कानूनगो 23 को नीमच में || प्रधानमंत्री एक्‍सीलेंस अवार्ड का सीधा प्रसारण 21 को होगा || पक्का मकान बन जाने से खुश हैं खरगो बाई ‘सफलता की कहानी’ || जवाहर नवोदय चयन परीक्षा 21 अप्रैल को होगी || मुख्‍यमंत्री तीर्थदर्शन योजना तहत यात्रा आवेदन आमंत्रित || नीमच में 3 लाख 22 हजार 124 श्रमिकों का पंजीयन || अनुसूचित जाति सलाहकार समिति की बैठक 26 को
अन्य ख़बरें
किसानों की समस्याओं का निराकरण कर रही है प्रदेश सरकार- जिला पंचायत अध्यक्ष श्री राजपूत
-
देवास | 16-अप्रैल-2018
  
   प्रदेश की सरकार किसानों की समस्याओं का निराकरण कर रही है। मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान प्रदेश में खेती को लाभ का धंधा बनाकर किसानों की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ कर रहे हैं। किसानों की आय बढ़ाने के उद्देश्य को लेकर प्रदेश सरकार संकल्पित हैं। उक्त उद्बोधन जिला पंचायत अध्यक्ष श्री नरेंद्रसिंह राजपूत ने आज कृषि उपज मंडी में आयोजित जिला स्तरीय किसान सम्मेलन में कही। इस अवसर पर विधायक राजेंद्र वर्मा, महापौर सुभाष शर्मा, कलेक्टर आशीष सिंह, अध्यक्ष प्रतिनिधि कृषि उपज मंडी देवास बद्रीलाल जायसवाल, प्रतिनिधि कृषि स्थाई समिति सिद्धनाथ कैलोदिया, सांसद प्रतिनिधि राजीव खंडेलवाल, उपसंचालक कृषि एसएस राजपूत, अन्य जनप्रतिनिधि, अधिकारीगण एवं बड़ी संख्या में कृषकगण उपस्थित थे।
किसानों का दर्द समझते हैं मुख्यमंत्री
   सम्मेलन में सोनकच्छ विधायक राजेंद्र वर्मा ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान किसानों का दर्द समझते हैं। वे उनकी समस्याओं का समाधान करने के लिए सदैव तत्पर रहते हैं।
यह किसानों की सरकार है
   महापौर सुभाष शर्मा ने कहा कि प्रदेश की सरकार किसानों की सरकार है। जिसे किसान पुत्र मुख्यमंत्री श्री चौहान सफलतापूर्वक चला रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष 200 रुपए बोनस राशि थी जिसे बढ़ाकर 265 रुपए कर दिया गया है।
इनके खाते में अंतरित की गई राशि
   कार्यक्रम में अतिथियों द्वारा किसानों को एक क्लिक पर प्रोत्साहन राशि दी गई। जिनमें सुनवानी महाकाल के शिवनारायण पूनमचंद को 9980 रुपए, मोहनलाल तोलाराम को 9710 रुपए, प्रहलाद छितरसिंह मीणा को 23 हजार 600 रुपए, नाथूराम मांगीलाल बरवई खातेगांव को 6800 रुपए, मुन्नालाल टीकमचंद जसोदगढ़ के खाते में 38143 रुपए की राशि अंतरित की गई है।
मुख्यमंत्री के कार्यक्रम को देखा एलईडी पर
   राज्य स्तरीय किसान सम्मेलन आज शाजापुर में आयोजित किया गया। जिसमें मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान शामिल हुए। उन्होंने किसानों को संबोधित किया तथा किसानों को प्रोत्साहन राशि के चेक वितरित किए। राज्य स्तरीय कार्यक्रम का सीधा प्रसारण एलईडी से कृषि उपज मंडी में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में किया गया।
   देवास में आयोजित जिला स्तरीय किसान सम्मेलन में 21 हजार से अधिक किसानों को 39 करोड़ 53 लाख रुपए की राशि नेफ्ट एवं आरटीजीएस के माध्यम से संबंधितों के बैंक खातों में अंतरित की गई। गेहूं की खरीदी पर सरकार ने 200 रुपए प्रति क्विंटल प्रोत्साहन राशि देने की घोषणा करते हुए इस समारोह के माध्यम से किसानों के खाते में राशि अंतरित की। कार्यक्रम में बताया गया कि वर्ष 2016-17 की प्रोत्साहन राशि 200 रुपए प्रति क्विंटल देने साथ ही घोषणा की गई कि आगामी वर्ष 2017-18 में गेहूं का बोनस मूल्य 265 रुपए प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया। वहीं चना, मसूर, सरसों के लिए इस वर्ष 2018 में 100 रुपए प्रति क्विंटल देने की भी घोषणा की गई है। बोनस देने का उद्देश्य किसानों की सहायता करते हुए उनकी आय को दोगुनी करना है। इस प्रोत्साहन राशि से किसान अपनी उपज बढ़ाने के लिए आवश्यक संसाधन जुटा सकता है।
बैंक खातों में जाएगी राशि
   सम्मेलन में बताया गया कि मुख्यमंत्री कृषक कल्याण समृद्धि योजनांतर्गत प्रदेश में रबी 2016-17 में गेहूं की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर प्राथमिक साख सहकारी समितियों के माध्यम से ई-उपार्जित गेहूं के लिए 200 रुपए प्रति क्विंटल की प्रोत्साहन राशि के मान से प्रदेश के कुल 7 लाख 38 हजार 895 हितग्राहियों को राशि 1345 करोड़ रुपए आरटीजीएस के माध्यम से पात्र कृषकों को बैंक खातों में हस्तांतरित की जा रही है। इसी प्रकार जिले के कुल 21 हजार 732 कृषकों के खातों में राशि 39 करोड़ 53 लाख 56 हजार 358 रुपए ई-पैमेंट के माध्यम से हस्तांतरित की जा चुकी है।
प्रोत्साहन राशि 10 जून तक जमा कराई जाएगी
   रबी वर्ष 2017-18 में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं उपार्जित कराने वाले किसानों को भी 265 रुपए प्रति क्विंटल प्रोत्साहन राशि उनके बैंक खातों में 10 जून 2018 को जमा की जाएगी। इस क्रम में पंजीकृत किसानों को उत्पादन की पात्रता सीमा तक कृषि उपज मंडी समिति में न्यूनतम समर्थन मूल्य से नीचे अथवा न्यूनतम समर्थन मूल्य से ऊपर बेचने पर 26 मई 2018 के मध्य 265 रुपए प्रति क्विंटल के मान से  प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी।
चना, मसूर एवं सरसों पर भी मिलेगी प्रोत्साहन राशि
   इसी प्रकार पंजीकृत कृषकों को चना, मसूर एवं सरसों पर भी 10 अप्रैल 2018 से 9 जून 2018 के मध्य विक्रय करने पर 100 रुपए प्रति क्विंटल के मान से प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। जिले में चना, मसूर एवं सरसों के पंजीकृत 70106 किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सभी कृषि उपज मंडी/उप मंडी में खरीदी की जा रही है।
 
(3 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मार्चअप्रैल 2018मई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2627282930311
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
30123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer