समाचार
|| आर्थिक मदद जारी || हिट एण्ड रन के एक प्रकरण में आर्थिक मदद जारी || ऑन लाइन आवेदन भरने की प्रक्रिया से अवगत कराने हेतु प्रशिक्षण आयोजित || डाटाबेस में सही प्रविष्टियां के आश्य का प्रमाण पत्र जमा कराएं || पटवारी राजस्व विभाग की रीढ़ || कलेक्टर हुए रू-ब-रू || केन्द्रीय मंत्रियों और मुख्यमंत्री के मुरैना प्रस्तावित आयोजन की तैयारी को लेकर बैठक सम्पन्न || लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री रूस्तम सिंह मुरैना में || बोर्ड परीक्षा व्यवस्थाओं को लेकर शिक्षा मण्डल के अध्यक्ष श्री मोहन्ती आज समीक्षा करेंगें || जबलपुर में 24 फरवरी को असंगठित श्रमिकों का सम्मेलन
अन्य ख़बरें
आई.एल.एन.एफ.एस. प्रशिक्षण केन्द्र के सभी 50 प्रशिक्षणार्थियों का शाही एक्सपोर्ट प्रायवेट लिमिटेड बैंगलौर में हुआ चयन (सफलता की कहानी)
प्रभारी कलेक्टर ने चयनित प्रशिक्षणार्थियों को शुभकामनायें देकर किया विदा
अनुपपुर | 13-फरवरी-2018
 
   
 
   गत दिवस आई.एल.एन.एफ.एस. प्रशिक्षण केन्द्र पुरानी बस्ती में सुबह से ही चहल-पहल थी, कारण था केन्द्र में कैम्पस इन्टरव्यू का आयोजन। ऐसा कैम्पस इंटरव्यू जहां सभी प्रशिक्षणार्थियों का एक साथ चयन हुआ। इंटरव्यू के समय प्रशिक्षुओं के माता-पिता भी परिणाम जानने के लिए एकत्र थे। चयनित प्रशिक्षुओं को कैम्पस इन्टरव्यू लेने आयी टीम ने अपनी शर्तें बतायी तथा एक-एक करके उनसे प्रश्न किये तथा मशीनों में बैठाकर कार्य की गुणवत्ता का भी अवलोकन किया।
   जिले में बेरोजगार युवाओं को रोजगार से जोड़ने हेतु जिला प्रशासन द्वारा सतत् रुप से प्रशिक्षण संचालित किये जा रहे हैं। उन्ही में से ग्रामीण युवक-युवतियों को जो न्यू मार्डन कपड़ा कंपनियां जो रेडीमेड कपड़े तैयार करती हैं, उनकी मांग के अनुरुप प्रशिक्षण दिया जाता है। टेक्सटाइल कंपनी शाही एक्सपोर्ट प्रायवेट लिमिटेड बंगलौर ने आज जिला मुख्यालय अनूपपुर में पुरानी बस्ती में आई.एल.एन.एफ.एस. प्रशिक्षण केन्द्र के सभी 50 प्रशिक्षणार्थियों का चयन किया गया। इन प्रशिक्षणार्थियों को प्राथमिक तौर पर 8000 रु. मासिक वेतन मिलेगा। कार्य में लगातार दक्षता होने पर इनका प्रमोशन सुपरवाइजर एवं ट्रेनर के रुप में हो सकेगा, साथ ही इनके वेतन में वृद्धि भी हो सकेगी।
   प्रभारी कलेक्टर एवं सी.ई.ओ. जिला पंचायत श्री के.व्ही.एस. चौधरी ने सभी चयनित प्रशिक्षुओं को उज्जवल भविष्य की शुभकामनायें दी। आपने कहा कि कुछ पाने के लिए कुछ खोना पड़ता है, आज आपकों घर छोड़कर जाना पड़ रहा है, किन्तु यह सब प्राप्त करने के लिए त्याग करना ही पड़ता है। आपने प्रशिक्षुओं के परिवारजनों से भी बातचीत की तथा पूरी प्रक्रिया की जानकारी दी। उन्होने कहा कि इन्हे किसी भी प्रकार की समस्या होने पर तत्काल प्रशासन को जानकारी दें। सभी अभिभावकों ने अपने पुत्र-पुत्रियों को खुशी-खुशी नौकरी के लिए बिदा किया। चयनित प्रशिक्षुओं का रेल में रिजर्वेशन कंपनी द्वारा कराया गया था।
(10 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2018मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2930311234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627281234
567891011

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer