समाचार
|| मध्यप्रदेश की शासकीय क्षेत्र की प्रथम इकाई "सफलता की कहानी" || मजदूरी करने वाली कमला बनी बांसकला की मास्टर ट्रेनर (सफलता की कहानी) || व्हॉट्सएप से भी प्रदाय किये जायेंगे प्रमाण पत्र || राज्य सूचना आयुक्त का आगमन 25 को || राज्यपाल श्रीमती पटेल ने किया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण || खजुराहो एयरपोर्ट से राज्यपाल श्रीमती पटेल सागर के लिये हुई रवाना || निःशुल्क मेघा आयुश शिविर 24 फरवरी को || अनुश्रवण समिति की बैठक 26 फरवरी को || आज आयेगे संभागायुक्त || जिला स्तरीय सलाहकार समीक्षा समिति की बैठक 27 फरवरी को
अन्य ख़बरें
कृमि संक्रमण से बच्चों को बचाना हमारी नैतिक जिम्मेदारी - मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी
9 फरवरी राष्ट्रीय कृमि मुक्त दिवस समस्त तैयारी पूर्ण
शहडोल | 07-फरवरी-2018
 
   
    शासन के निर्देशानुसार जिले के कलेक्टर श्री नरेश पाल के मार्गदर्शन तथा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. राजेश पाण्डेय के निर्देशन में 1 वर्ष से 19 वर्ष के जिले के सभी आंगनवाड़ी केन्द्रो, शासकीय एवं शासकीय स्कूलो छात्रावासो, आश्रमो, मदरसो, में बच्चो को कृमि संक्रमण से मुक्त कराने के लिये 9 फरवरी 2018 को कृमि नाशक गोली एल्बेण्डाजोल, नोडल शिक्षक की उपस्थित में खिलाई जाएगी। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि जिले में 1 वर्ष से 19 वर्ष के लगभग 4 लाख 15 हजार बच्चे है। दवाईयो का वितरण कर दिया गया है। जिले स्तर पर टास्क र्फोस की बैठक कलेक्टर की अध्यक्षता में 17 जनवरी 2018 को हो चुकी है। 1 फरवरी से 7 फरवरी 2018 तक विकास खण्ड स्तर पर शिक्षको, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, स्वास्थ्य कार्यकर्ता व आशा कार्यकर्ताओ को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। और प्रचार प्रसार सघन स्तर पर चल रहा है। नारे, गेरू से नारांकन, फ्लेक्स द्वारा प्रचार प्रसार किया जा रहा है। आशा माकिंग द्वारा ग्राम स्तर पर प्रचार प्रसार किया जा रहा है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि जिला स्वास्थ्य अधिकारी क्र 01 इसके नोडल अधिकारी होगे सभी विभागो के समन्वयक एवं सहयोग से इसका क्रियान्वयन किया जा रहा है। शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग, आदिवासी विभाग, व पंचायत विभाग, के समन्वय व सहयोग से हम इस अभियान को सफल बनायेगे।
    मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने इस अभियान के बारे जानकारी देते हुए बताया कि बच्चो में कृमि संक्रमण व्यक्तिगत स्वच्छता की कमी से तथा दूषित मिट्टी के संपर्क में होता है। कृमि संक्रमण से बच्चो का जहा एक ओर शारीरिक विकास वाधित होता है वही दूसरी ओर उसके पोषण स्तर व हीमोग्लोबिन स्तर पर भी विपरीत प्रभाव पड़ता है। कृमि एक प्रकार का परजीवी है जो कि बच्चो के ऑतो में रहते है तथा शौच के माध्यम से बाहर निकलते है। खुले में शौच करने से मिट्टी मिल जाते है। और जब कोई बच्चा नंगे पैर चलता है अथवा गंदे हाथो से खाना खाने व खुले में शौच करने जाता है तो कृमि बच्चो के शरीर में प्रवेश कर जाते है इससे बच्चो में खून की कमी व पोषण स्तर में गिरावट आती है।
    मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि, गोली खिलाने से कभी कुछ सामान्य प्रतिकूल प्रभाव हो सकते है, क्योकि गोली खाने से बच्चे के पेट के कीड़े मरते है, इससे कभी बच्चो का जी मिचलाना, खुजली होना या थकान आदि के लक्षण परिलक्षित हो सकते है इसमे घबराने की अवश्यकता नही है बच्चो को छाया में लिटाये और उसे ओ.आर.एस. का घोल पिलाये यथा संभव आरोग्य केन्द्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में ले जाये अवश्यकता पड़ने पर आर.बी.एस.के. का वाहन, जननी 108, अथवा एम्बुलेंस की सहायता ली जा सकती है।
    जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. अंशुमन सोनारे ने बताया कि एक से दो वर्ष तक के बच्चो को एल्वेंडा जोल की आधी गोली 200 एम.जी. पीसकर, 02 से 03 वर्ष के बच्चों को 01 गोली पीसकर तथा 3 से 19 वर्ष तक के बच्चो को 1 गोली 400 एम.जी. चाबाकर खाने को दी जावेगी। इस अभियान के शत-प्रतिशत कवरेज के लिए 15 फरवरी को मॉप अप राउण्ड चलाया जायेगा। जिससे 1 वर्ष से 19 वर्ष तक के बच्चे किन्ही कारणों से कृमि नाशक गोली खाने से वंचित हो गये है उन्हे खिलाया जायेगा। यदि कोई शासकीय-अशासकीय स्कूल प्रभारी दवाईया प्राप्त नही कर पाये है तो स्थानीय कार्यालय के बी.पी.एम. श्री नरेन्द्र विश्वकर्मा जिनका मो. नं. 9479660321 है से संपर्क कर प्राप्त कर सकते है। कलेक्टर श्री नरेश पाल एवं सी.एम.एच.ओ. डॉ. राजेश पाण्डेय ने संयुक्त अपील जारी करते हुए कहा कि जनमानस, जनप्रतिनिधि, इलेक्ट्रानिक व प्रिंट मीडिया व अभिभावक सभी मिलकर सहयोग प्रदान करे ताकि बच्चो को कृमि परजीवी के संक्रमण से मुक्त करा कर उनके बौद्धिक व उनके शारीरिक विकास तथा पोषण स्तर को दिशा दे सके।
(14 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2018मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2930311234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627281234
567891011

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer