समाचार
|| प्रशासक नियुक्त || जिला सलाहकार समिति की बैठक 26 फरवरी को || दीनदयाल अन्त्योदय योजना में मार्च का खाद्यान आवंटित || हज-2018 में पदों के लिए दस्तावेज 5 मार्च तक जमा होंगे || अटल बिहारी बाजपेयी बाल आरोग्य एवं पोषण मिशन अंतर्गत गठित जिला स्तरीय कार्यकारिणी समिति की बैठक 26 फरवरी को || हितग्राहियों को राशन पीओएस मशीन के माध्यम से वितरित किया जाये || जून माह में होंगी मदरसा बोर्ड की परीक्षा || 5 वीं व 8 वीं परीक्षा की गोपनीय सामग्री का वितरण 25 फरवरी को || कल्याणकारी संस्थाओं, छात्रावासों, आश्रमों को उचित मूल्य दुकान से मिलेगा खाद्यान्न || स्थानीय निवासी प्रमाण पत्र तत्काल मिलने से खुश हैं नितेश ‘सफलता की कहानी’
अन्य ख़बरें
जिले के मीडिया प्रतिनिधियों ने किया पेंच व्यपवर्तन वृहद परियोजना माचागोरा का अवलोकन
-
सिवनी | 01-फरवरी-2018
   
   विकास कार्यो के अवलोकन हेतु अन्तर जिला प्रेस टूर अन्तर्गत सिवनी जिले का मीडिया प्रतिनिधि दल ने विगत 30 जनवरी को छिन्दवाडा जिले के पेंच व्यपवर्तन वृहद परियोजना माचागोरा एवं श्री बादल भोई राज्य आदिवासी संग्रहालय का अवलोकन किया। माचागोरा डेम अवलोकन के समय जिले के पत्रकारों को माचागोरा बांध के सब इंजीनियर श्री आर.पी. चौरसिया एवं श्री ललित सक्सेना द्वारा संपूर्ण बांध का निरीक्षण करवाया गया। जहां उनके द्वारा सभी मीडिया प्रतिनिधियों को बांध के निर्माण एवं संचालन में उपयोग किये जाये तकनीकी यंत्रों की कार्यप्रणाली से अवगत कराये जाने के साथ-साथ अन्य जानकारियां प्रदान की गई। इस अवसर पर जनसंपर्क कार्यालय सिवनी के सहायक संचालक के साथ ही जनसंपर्क कार्यालय छिन्दवाड़ा के उपसंचालक श्री माखनसिंह उईके की भी उपस्थिति रही।
   छिन्दवाड़ा जिले की जीवन रेखा पेंच नदी में बनी पेंच व्यपवर्तन वृहद परियोजना जो की छिन्दवाड़ा जिले के चौरई विकासखंड के ग्राम माचागोरा में स्थित है। परियोजना अंतर्गत पेंच नदी पर 6160 मीटर लम्बाई में अधिकतम 42 मीटर ऊचाई का मिट्टी बांध तथा 360 मीटर लम्बाई में पक्के बांध इस प्रकार कुल 6.52 कि.मी. लम्बे बांध का निर्माण प्रगति में है। जिसका कुल जलग्रहण क्षेत्र 1754.73 वर्ग कि.मी. है। जिसमें 577.86 मिलियन घन मीटर जल संग्रहित किया जा सकता है। 360 मीटर में निर्मित पक्के बांध में 140 मीटर ओवर फ्लो सेक्शन में 8 नग रेडियल गेट लगाये गये है। जिनसे 12411 क्युमेक्स पानी निकासी की जा सकती है।
   शासन की इस महत्वाकांक्षी परियोजना का लगभग 95 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है। शेष कार्य प्रगति पर है। नहरों का 70 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है। जिसके पूर्ण होने पर छिन्दवाड़ा जिले के 164 ग्राम एवं सिवनी जिले के 152 ग्राम के कुल 114882 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सम्भव हो सकेगी।
   परियोजना में छिन्दवाड़ा तहसील के 17, चौड़ाई 10 तथा अमरवाड़ा तहसील के 03 ग्रामों सहित कुल 30 ग्रामों की 5607 हेक्टयर भूमि डूब में आई। जिसे शासन द्वारा पुनरबसाहट हेतु आवश्यक कार्यवाही की गई। इस बहु उद्देशीय परियोजना से सिवनी एवं छिन्दवाड़ा जिले में सिंचाई के साथ ही मत्स्य पालन एवं पर्यटन को बढ़ावा मिलने के साथ ही छिन्दवाड़ा जिले में पेयजल आपूर्ति पर भी विचार किया जा रहा है।
   श्री बादल भोई राज्य आदिवासी संग्रहालय के अवलोकन में पहुंचे सिवनी जिले के मीडिया प्रतिनिधि दल द्वारा प्रदेश के विभिन्न स्थानों से लाकर संग्रहित की गई प्राचीन सामग्रियों का अवलोकन किया गया।    
(23 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2018मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2930311234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627281234
567891011

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer