समाचार
|| मुख्यमंत्री के स्वेच्छानुदान मद से जिले के 30 व्यक्तियों को सहायता || जन-सुनवाई बनी दु:खियों का सम्बल ''''सफलता की कहानी'''' || सोहागपुर विधायक की स्वेच्छानुदान निधि से 5 हितग्राहियों को सहायता || एकात्म यात्रा के दौरान कन्या पूजन किया जाएगा || सोहागपुर विधायक की विधायक निधि से 2 निर्माण कार्य की स्वीकृति || मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सेवा शिविर 18 जनवरी को || मझौलीखुर्द सरपंच पद के निर्वाचन की प्रक्रिया स्थगित || सोहागपुर में आज होगा एकात्म यात्रा का प्रवेश || मतदान के मद्देनजर खिलचीपुर में आज अवकाश || रात्रि में होगी धुव्रा बैण्ड की प्रस्तुति
अन्य ख़बरें
उप निरीक्षक सोने सिंह के प्रयास को सलाम "सफलता की कहानी"
घायलों की तत्परतापूर्वक कार्यवाही कर जान बचाने पर पुलिस कप्तान रिवार्ड देने की घोषणा की
अनुपपुर | 12-जनवरी-2018
 
   
   समाज में अच्छा काम करने वाले लोगों की सराहना तो की ही जानी चाहिए,  जिससे समाज के अन्य लोग भी प्रेरणा लें तथा समाज एवं देशहित में ऐसा ही प्रदर्शन कर समन्वयवादी एवं परोपकारी समाज की भारतीय परम्परा को अक्षुण्य बनाये रखा जा सके।
   जीवन वही है जो दूसरों के काम आये। ऐसा ही कुछ काम किया है, अनूपपुर जिले के थाना राजेन्द्रग्राम में पदस्थ उपनिरीक्षक श्री सोने सिंह परस्ते ने। उनके छोटे से प्रयास से दो मोटर सायकिल में आपसी भिडन्त में घायल 6 लोगों को बचाया जा सका है। विगत 10 जनवरी को रात 8 बजे के दरमियान ग्राम बसनिहा में अत्याधिक ठंडी एवं अंधेरा होने के कारण आपस में आमने -सामने से भिडन्त हो गयी। एक मोटर सायकिल में तीन लोग तथा एक में दो लोग सवार थे। घटना शहडोल- अमरकंटक मार्ग की है, जहां आवागमन लगा ही रहता है। दुर्घटना के बाद 100 से 150 लोग तो इकट्ठे तो हुए लेकिन किसी ने भी घायलों को अस्पताल तक पहुंचाना मुनासिब नहीं समझा। उन्ही में से एक व्यक्ति ने मोवाइल से राजेन्द्रग्राम थाने में सूचना दी। थाने में डायल 100 वाहन तत्काल उपलव्ध नही था। थाने में पदस्थ उपनिरीक्षक श्री सोने सिंह को जैसे ही सूचना लगी, उन्होन तत्काल वाहन की व्यवस्था कर, घटना स्थल पर पहुंचे। दोनो मोटर सायकिल चालकों श्री अशोक उर्फ लल्ला निवासी जटंगा तथा श्री रामेश्वर निवासी बेलडोंगरी के पैर घुटने के नीचे कई जगह से टूटे हुए थे, शरीर में और भी जगह चोट थी, वे कराहते हुए पड़े थे। उन्हे उठाते भी नहीं बन रहा था। उन्होने तुरन्त लोगों के सहयोग से उन्हे अपने वाहन में लादा तथा अन्य घायलों को भी बिठाकर सामुदायिक केन्द्र राजेन्द्रग्राम लाये। रास्ते से ही डॉक्टर को मोबाइल पर सूचना दे दी थी, खण्ड चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुरेन्द्र सिंह अपनी टीम के साथ तैयार खड़े थे। पहुंचते ही सभी का प्राथमिक उपचार किया गया। जिन लोगों को चोटें अधिक थीं उन्हे जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया गया, जिनका उपचार किया जा रहा है। डाक्टरों का कहना है कि यदि देर की जाती तो रक्त स्त्राव के कारण वाहन चालकों की जाने भी जा सकती थी। इस प्रकार उपनिरीक्षक श्री सोने सिंह परस्ते ने अपने मानवीय संवेदना का परिचय देकर दो लोगों का जीवन बचा लिया। पुलिस अधीक्षक श्री सुनील जैन उनके कर्तव्य पराणयता पर रिवार्ड देने का प्रस्ताव भेजने के निर्देश नगरनिरीक्षक राजेन्द्रग्राम थाने को दिये हैं।
(4 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2018फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer