समाचार
|| आदिवासी महिला कुन्ती बाई अब कर रहीं हैं यंत्रीकृत खेती "सफलता की कहानी" || हज-2018 के लिए 4432 सीट का हुआ कम्प्यूटरीकृत कुरआ || वन अधिकार पट्टेधारकों को मिलेगा भावांतर भुगतान योजना का लाभ || नेशनल लोक अदालत का आयोजन 10 फरवरी को || बिजली पंचायत शिविर आज इन ग्रामों में लगेगी || वेतन निर्धारण अनुमोदन के लिये जिला कोषालय अधिकारी भी अधिकृत || कलेक्टर डॉ. शर्मा ने 4 लाख की आर्थिक सहायता की स्वीकृत || सड़क दुर्घटना में आर्थिक सहायता स्वीकृत || मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन यात्रा हेतु आवेदन आमंत्रित || औद्योगिक क्षेत्र भूखण्ड आवंटन हेतु ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित
अन्य ख़बरें
जिले में एकात्म यात्रा का किया गया भव्य स्वागत
सांस्कृतिक और आध्यात्मिक अखण्डता की यात्रा है एकात्म यात्रा- स्वामी अखलेश्वरानंद जी, एकता के साथ सामाजिक समरसता स्थापित करना है यात्रा का उद्देश्य- लोक निर्माण मंत्री
रायसेन | 07-जनवरी-2018
 
   
   आदि गुरू शंकराचार्य के आध्यात्मिक, सांस्कृतिक तथा भारत की एकता अखण्डता में किए गए योगदान को जन-जन तक पहुंचाने तथा ओंकारेश्वर में आदि गुरू शंकराचार्य की प्रतिमा स्थापना हेतु धातु संग्रहण के लिए आयोजित की जा रही एकात्म यात्रा ने सागर जिले से बेगमगंज विकासखण्ड के ग्राम मढ़ियानाका में प्रवेश किया। एकात्म यात्रा के जिले में प्रवेश के समय लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह, जिला भाजपा अध्यक्ष श्री धर्मेन्द्र चौहान, कलेक्टर श्रीमती भावना वालिम्बे, एसपी श्री जगत सिंह राजपूत तथा सीईओ जिला पंचायत श्री अमनवीर सिंह बैस सहित जिले भर से आए बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधियों एवं गणमान्य नागरिकों ने ढोल-नगाड़ों के साथ पुष्प वर्षा कर यात्रा का भव्य स्वागत किया। जिले में यात्रा के प्रवेश के समय 300 महिलाएं एक समान परिधान में कलश लेकर यात्रा के साथ-साथ चल रही थी। ग्राम रक्षा समिति के 100 सदस्यों ने भी नीले रंग के परिधान में कतारबद्ध होकर यात्रा का भव्य स्वागत किया। प्रवेश स्थल पर स्वागतद्वार तथा आकर्षक रंगोलिया बनाई गई थीं।
   जिले में यात्रा के प्रवेश स्थल मढ़ियानाका में स्कूल प्रांगण में आयोजित कार्यक्रम में कन्या पूजन, पादुका पूजन किया गया तथा संतो का सम्मान किया गया। कार्यक्रम में स्वामी अखलेश्वरानंद महाराज जी ने कहा कि एकात्म यात्रा सांस्कृतिक और अध्यात्मिक अखण्डता की यात्रा है। उन्होंने आदि गुरू शंकराचार्य के जीवन पर प्रकाश डाला तथा उनके बताए मार्ग का अनुसरण करने की बात भी कही। 
   इस अवसर पर लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह ने कहा कि हम सभी का सौभाग्य है कि प्रदेश में यह अभिनव यात्रा निकाली जा रही है और हमें चरण पादुकाओं का पूजन करने का अवसर मिला है। उन्होंने कहा कि इस यात्रा का उद्देश्य एकता के साथ सामाजिक समरसता को स्थापित करना है। उन्होंने कहा कि आज सुबह से ही पूरे क्षेत्र की माता-बहनों सहित सभी नागरिक यात्रा के भव्य स्वागत एवं दर्शन के लिए लालायलित हैं। उन्होंने कहा कि आदि शंकराचार्य ने देश की अखण्डता के लिए अनेक कार्य किए हैं और हमें आदि गुरू शंकराचार्य की प्रतिमा की स्थापना के लिए अष्टधातु संग्रहण में सहयोग करने का यह अवसर मिला है। इसके पश्चात यात्रा ने बेगमगंज के लिए प्रस्थान किया।
   एकात्म यात्रा के स्वागत अभिनंदन हेतु जगह-जगह स्वागत द्वार, रंगोली बनाई गई। एकात्म यात्रा के मार्ग में पड़ने वाले गांवों के निवासियों ने दोनों ओर खड़े होकर पुष्प वर्षा कर यात्रा का स्वागत किया। साथ ही मूर्ति स्थापना के लिए अष्ट धातु भी भेंट की गई।
(10 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2018फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer