समाचार
|| कक्षा 8वीं की 28 फरवरी से एवं 5वीं की स्वाध्यायी परीक्षाएं 15 मार्च से प्रारंभ || श्रवणबेलगोला तीर्थ दर्शन यात्रा 27 फरवरी को || बोर्ड परीक्षाओं में केन्द्राध्यक्ष के अधिकार || पिछड़ा वर्ग पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति आवेदन पत्रों की ऑनलाईन स्वीकृति की तिथि 31 मार्च || किसानों के पंजीयन तथा सत्यापन की अंतिम तिथि 28 फरवरी || दीनदयाल अन्त्योदय योजना में मार्च का खाद्यान आवंटित || हज-2018 में पदों के लिए दस्तावेज 5 मार्च तक जमा होंगे || गर्भवती महिलाओं को मिलेगी प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना से सहायता || मार्च में ग्राम पंचायतों में चलेगा जल अभिषेक अभियान || पीसीपीएनडीटी की बैठक आज
अन्य ख़बरें
सीएसआर मद से जिला चिकित्सालय को उपलब्ध होंगे 06 विशेषज्ञ डॉक्टर- कलेक्टर
ऑडोटेरियम भवन का किया जायेगा निर्माण
सिंगरौली | 07-दिसम्बर-2017
 
   
   जिला चिकित्सालय में विशेषज्ञ डॉक्टरों के पूर्ति करने हेतु सीएसआर मद से छः डॉक्टर उपलब्ध कराया जाना सुनिश्चित किया जाये उक्त आशय का निर्देश कलेक्टर सभा में आयोजित सीएसआर कार्यो की समीक्षा बैठक के दौरान कलेक्टर श्री अनुराग चौधरी के द्वारा उपस्थित कम्पनियों को निर्देश दिया गया। वहीं एक अच्छे क्वालिटी का ऑडोटेरियम भवन निर्माण कराये जाने का निर्देश दिया गया। बैठक के दौरान जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्री प्रिंयक मिश्रा एसडीएम देवसर श्री रितुराज आईएएस, श्री राजेश शुक्ला डिप्टी कलेक्टर, जिला प्रबंधक लोक सेवा रमेश कुमार पटेल, मुख्यचिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी राजेश श्रीवास्तव, सहायक लोक सेवा अभय प्रताप सिंह एनसीएल, एनटीपीसी, टीएचडीसी एपीएमडीसी हिण्डालको एस्सार सासन पावर के सीएसआर मद के प्रमुख अधिकारी सहित जिला के अधिकारी उपस्थित रहें। कलेक्टर के द्वारा सीएसआर कार्यो की समीक्षा उपस्थित कम्पनियों से किया जाकर वर्तमान कार्य योजनाओ की जानकारी ली गई। तथा समस्त परियोजना अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि बिना डीपीआर मिले कोई भी परियोजना किसी भी कार्य के लिए राशि जारी नही करेगी क्यों कि जिला प्रशासन से अन्य किसी मद से उक्त कार्य की पुनर्रावृत्ति न हो सके। एवं सीएसआर अंतर्गत भविष्य में शिक्षा एवं पेयजल व जिले के सौंदर्यीकरण हेतु जिले की प्राथमिकताओ में ध्यान दिया जायेगा। एवं सीएसआर से किये जा रहें समस्त कार्यो का लोकर्पण एवं शिलांयास जिले के सम्मानित जनप्रतिनिधियों से करवाया जाना सुनिश्चित किया जावे। वहीं मुडवानी डैम के बैगा बस्ती में विद्युतीकरण किये जाने का कार्य एनसीएल को सौपा गया। साथ ही परियोजना के अंतर्गत अधिगृहित हुए ग्रामों के विस्थापित को समुचित व्यवस्थाऐं आवास पेयजल छात्रों को शिक्षा पेंशन आदि की व्यवस्था सीएसआर मद से किये जाने का निर्देश दिया गया।
   आगे उन्होने यह भी निर्देश दिया कि कोई भी परियोजना बिना कलेक्टर के अनुमति के कोई भी कार्य नही जोडेगा समस्त कार्य आवश्यकतानुसार चिन्हित किये जाने के बाद ही किया जावेगा। वहीं स्पोर्ट एक्टिविटी हेतु समस्त परियोजनाओं द्वारा स्वीकृत राशि को समग्र रूप में व्यय किया जायेगा। तथा एनसीएल एवं अन्य कोई परियोजनायें सीएसआर से अन्य कोई वर्कशॉप आयोजित करेगा तो आयोजन के 15 दिवस के पूर्व जिला प्रशासन को सूचित करेगें ताकि जिला प्रशासन संबंधित विभाग के कर्मचारियों को आवश्यक दिशा निर्देश जारी कर सके। वहीं एनटीपीसी के द्वारा कुपोषित बच्चों के लिए 10 लाख का व्यय किये जाने का प्रावधान रखा गया है उसे एकीकृत बाल विकास के समन्वय से किया जावें वही शासकीय प्राथमिक स्कूलों में फिल्म आधारित शिक्षा पद्धति बच्चों को अवगत कराने के लिए राशि का प्रावधान एनटीपीसी को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया।
   छः विशेषज्ञ डॉक्टरों की करें व्यवस्था:- कलेक्टर के द्वारा जिला चिकित्सालय में विशेषज्ञ डॉक्टरों की कमी को देखते हुए साथ ही रोगियों को त्वरित लाभ विशेषज्ञ डॉक्टरों से प्रदान कराने हेतु एक न्यूरो सर्जन, कार्डिग सर्जन की व्यवस्था करने की जिम्मेदारी एपीएमडीसी, एवं टीएचडीसी के उपस्थित अधिकारियों को दिया गया। वहीं एनटीपीसी एवं एनसीएल को दो-दो डॉक्टर उपलब्ध कराने हेतु जिम्मेदारियॉ सौपी गई जिसमें 01 डॉक्टर आई स्पेशलिस्टि होगें।
    हवाई पट्टी तक पहुंच मार्ग का निर्माण का कार्य एनसीएल के द्वाराः-बैठक के दौरान कलेक्टर के द्वारा एनसीएल के अधिकारियों को निर्देश दिया गया कि सिंगरौलिया में निर्माणाधीन हवाई पट्टी तक पहुंच मार्ग 03 किमी के सडक का निर्माण सीएसआर मद से किया जायें।
    बरगवॉ रेलवें स्टेशन में बनवाये वेंटिंग हॉल एवं शौचालयः- कलेक्टर के द्वारा सीएसआर बैठक के दौरान हिण्डाल्कों के अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि आपके द्वारा रेलवें स्टेशन का निर्माण तो कर दिया गया है लेकिन यात्रियों के बैठने हेतु वेटिंग हॉल एवं शौचालय का निर्माण क्यों नही किया गया जिस पर उपस्थित अधिकारियों के द्वारा उक्त कार्य जल्द किये जाने हेतु आश्स्वासन दिया गया है।
    जिले में बढ़ते कुपोषण प्रतिशत की समीक्षा करते हुए समस्त उपस्थित परियोजनाओं के अधिकारियों को फटकार लगाते हुए कलेक्टर चौधरी के द्वारा निर्देश दिया गया है कि अपने अपने परियोजना अंतर्गत जहॉ टीके का प्रतिशत कम है वहॉ टीकाकरण का कार्य पूर्ण करावें। साथ ही कलेक्टर के द्वारा जिले के 30 गॉवों को चिन्हित कर 10 गॉव एनटीपीसी एवं 20 गॉव एनसीएल को प्रदाय किये गये है जिन्हें वे मुख्यचिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के साथ समन्वय स्थापित कर टीकाकरण पूर्ण कराये जाने कार्य करें।
(80 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2018मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2930311234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627281234
567891011

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer