समाचार
|| उपभोक्ता दिवस 24 दिसम्बर को || भोपाल में भाग लेने महिला स्वसहायता समूह के सदस्य रवाना || श्यामशाह चिकित्सा महाविद्यालय का अकादमिक वार्षिकोत्सव एवं पुरस्कार वितरण कार्यक्रम सम्पन्न || उद्योग मंत्री श्री शुक्ल ने ट्रांसपोर्ट नगर में किया 1.99 करोड़ की सड़क का भूमि पूजन || पचमठा के पुनरोद्धार जैसे कार्यों से रीवा का कल्याण होगा - मंत्री श्री शुक्ल || भोपाल में आयोजित महिला स्वसहायता समूह सम्मेलन सहप्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल होने महिलाओं ने किया प्रस्थान || सिगनल ट्रेनिंग स्कूल, भा.ति.सी.पु.बल का टेक्निकल फेस्टिवल 2017 सम्पन्न || श्रमोदय आवासीय विद्यालय में प्रवेश हेतु आवेदन आमंत्रित || मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन यात्रा हेतु आवेदन आमंत्रित || उपभोक्ता जागरूकता हेतु कार्यशाला 24 को
अन्य ख़बरें
गंभीर कुपोषित एवं एनीमिया की सक्रिय स्क्रीनिंग एवं प्रबंधन हेतु दस्तक अभियान 18 से
स्वास्थ्य, महिला बाल विकास एवं आजिविका मिशन के समन्वय हेतु आयोजित बैठक में कलेक्टर ने दिए निर्देश
राजगढ़ | 07-दिसम्बर-2017
   
 
   सर्दी का मौसम हेल्थी सीजन कहलाता है। इस समय गंभीर रूप से कुपोषित बच्चों को सामान्य बच्चों की श्रेणी में लाने के लिए आदर्श परिस्थितियां होती हैं। आवश्यकता उनके सही तरीके से विशेष ध्यान देने की। जिले में कोई भी बच्चा अति कुपोषण की श्रेणी में नही रहे। यह निर्देश यहां जिला कार्यालय के सभाकक्ष में जिले में 18 दिसंबर 2017 से 18 जनवरी 2018 तक चलने वाले दस्तक अभियान की सफलता के लिए तैयारी एवं रणनीति बनाए जाने हेतु स्वास्थ्य विभाग, महिला एवं बाल विकास, महिला सशक्तिकरण एवं राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के समन्वय हेतु आयोजित बैठक में कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा ने दिए। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. अनुसूईया गवली सिन्हा, कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास श्रीमति चन्द्रसेना भिड़े, जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी श्री श्यामबाबू खरे, परियोजना प्रबंधक जिला ग्रामीण आजीविका मिशन श्री संदीप सोनी सहित चिकित्सकगण एवं महिला बाल विकास विभाग की सुपरवाईजर मौजूद रही।
   इस अवसर पर कलेक्टर श्री शर्मा ने निर्देशित किया कि दस्तक अभियान एक अच्छा अवसर है पांच वर्ष से कम उम्र के गंभीर अतिकुपोषित की सक्रिय रूप से पहचान एवं प्रबंधन तथा छः माह से पांच वर्ष तक के बच्चों में गंभीर एनीमिया की सक्रिय स्क्रीनिंग एवं प्रबंधन करने के लिए। जिले में दस्तक अभियान अंतर्गत निर्धारित आयु का कोई भी बच्चा पहचान और उपचार से छूटे नहीं। यह सुपरवाईजर, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता सुनिश्चित करे। इस उद्देश्य से उन्होंने अभियान में आजिविका मिशन की महिला स्व-सहायता समूहों को भी जोड़ने हेतु निर्देशित किया।
    उन्होंने कहा कि अभियान के दौरान बच्चों में जन्मजात विकृतियों, हृदय की बीमारियों से पीड़ित बच्चों की पहचान करना एवं उनका उपचार कराने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएं। उन्होंने निर्देशित किया  कि दस्तक अभियान अंतर्गत 12 प्रकार की सेवाएं 18 दिसंबर 2017 से 18 जनवरी 2018 तक 1 दी जानी है। इनमें पांच वर्ष से कम उम्र के गंभीर कुपोषित बच्चो की सक्रिय रूप से पहचान एवं प्रबंधन, छः माह से पांच वर्ष तक के बच्चों में गंभीर एनीमिया की सक्रिय स्क्रीनिंग एवं प्रबंधन, नौ माह से पांच वर्ष तक के समस्त बच्चो का विटामिन ए अनुपूरण, पांच वर्ष तक के बच्चों में बाल्यकालिन दस्त रोग के नियंत्रण हेतु ओ.आर.एस. के उपयोग संबंधी सामुदायिक जागरूकता को बढावा तथा प्रत्येक घर में गृह भेंट के दौरान ओ.आर.एस. पहुँचाना, गृह भेंट के दौरान आंशिक रूप से टीकाकृत एवं छूटे हुए बच्चो की जानकारी लेना एवं टीकाकरण करना, शिशु एवं बाल आहारपूर्ती संबंधी समझाईस समुदाय को देना, अतिकुपोषित बच्चों को थार्डमील अपने सामने खिलाना एवं स्तनपान संबंधी भ्रांतियों में कमी हेतु सामुदायिक जागरूकता करना, कम वजन के नवजात शिशुओं की उचित देखभाल हेतु समुदाय में कंगारू मदर केयर पद्धति संबंधी जागरूकता करना, एस.एन.सी.यू. एवं एन.आर.सी. से छुट्टी प्राप्त बच्चों में बीमारी की स्क्रीनिंग एवं फालो अप को प्रोत्साहन करना, बच्चो में दिखाई देने वाली जन्मजात विकृतियों की पहचान करना, समुदाय में अभियान के दौरान बीमार बच्चों का मूलभूत प्रबंधन करना, जन्म से पांच वर्षीय बच्चों में विगत 6 माह में हुई मृत्यु की ट्रेकिंग करना शामिल है। निर्धारित गतिविधियां का शतप्रतिशत कवरेज संबंधित अमला सुनिश्चित करें।
    इस अवसर पर एनीमिया परीक्षण की गुणवत्ता के लिए उन्हों स्वयं का  हीमोग्लोबिन टेस्ट भी कराया और परिणामों के प्रति प्रशंसा व्यक्त की। आयोजित बैठक में उन्होंने दो दम्पत्तियों को सीमित परिवार रखने प्रचार-प्रसार के उद्देश्य से जिले में क्रियान्वित ‘‘नवीन पहल‘‘ अंतर्गत नई पहल किट भी प्रदान की।
(9 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
नवम्बरदिसम्बर 2017जनवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
27282930123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer