समाचार
|| मुख्यमंत्री जी की प्रस्तावित यात्रा के दिन शहर में प्रभावशील रहेगी धारा 144 || तीन लाख 9 हजार नये पात्र परिवारों के लिये सस्ता राशन आवंटित || लापरवाही बरतने वाले चिकित्सक एवं कर्मचारियों पर कार्यवाही || श्रमोदय विद्यालय में प्रवेश हेतु आवेदन 30 दिसम्बर तक आमंत्रित || मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान से 16 हितग्राहियों को 11 लाख 25 हजार की स्वीकृति || स्वच्छता सर्वेक्षण के प्रति जागरूक करने आज निकाली जाएगी दो पहिया वाहन रैली || मुख्यमंत्री स्वरोजगार एवं कौशल सम्मेलन आज मंदसौर में || गांव को बदलना है तो युवाओं को योजनाओं में यहयोगी बनना होगा - सांसद श्री गुप्ता || श्रमोदय आवासीय विद्यालय में प्रवेश हेतु आवेदन आमंत्रित || मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन यात्रा हेतु आवेदन आमंत्रित यात्रा 4 जनवरी को पुरी जायेगी
अन्य ख़बरें
चेटीखेडा बांध से विस्थापित होने वालो के लिए देखी जमीन
कलेक्टर एवं जल संसाधन विभाग के अधिकारियों ने लिया जायजा
श्योपुर | 24-नवम्बर-2017
 
   
  
   विजयपुर विकासखण्ड में कुवारी नदी पर चेटीखेडा में प्रस्तावित बांध से विस्थापित होने वाले परिवारो को कृषि भूमि उपलब्ध कराने के लिए कलेक्टर श्री पीएल सोलंकी सहित जल संसाधन, कृषि विभाग के अधिकारियों द्वारा पिपरवास ग्राम के पास भूमि का अवलोकन किया गया। इस अवसर पर एसडीएम विजयपुर श्री एनआर गौड, कार्यपालन यंत्री जल संसाधन सबलगढ़ श्री रघुवीर सिंह, एसडीओ श्री आयुष दीक्षित, उपयंत्री श्री डीके गुप्ता, उपसंचालक कृषि श्री पी गुजरे, जिला महिला बाल विकास अधिकारी श्री रतन सिंह गुडिया, तहसीलदार श्री भरत कुमार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
   चेटीखेडा में प्रस्तावित बांध से विस्थापित होने वाले एससी, एसटी परिवारो को भूमि के बदले भूमि दी जाना है। इसके लिए 570 हेक्टेयर भूमि की आवश्यकता होगी। पिपरवास क्षेत्र में शासकीय काबिल कास्त भूमि 770 हेक्टेयर भूमि उपलब्ध है। जिसे विस्थापितो को दिये जाने का प्रस्ताव तैयार किया जायेगा। पिपरवास क्षेत्र में झिलमिल नाले पर छोटा बांध बनाकर विस्थापितो की भूमि पर सिंचाई की सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी। झिलमिल नाला क्षेत्र भी चेटीखेडा बांध के कैच मेन्ट क्षेत्र में शामिल है। चेटीखेडा बांध से 5 गांव अर्रादे, अगरा, दोहरदे, रनसिंहपुरा एवं देहरी आंशिक रूप से एवं दो गांव चेटीखेडा एवं शाहपुरा खुर्द पूर्ण रूप से प्रभावित होंगे। 1264 परिवारो का विस्थापन कर पुनर्वास किया जायेगा। 4200 मीटर की लम्बाई वाले बांध का कैचमेन्ट एरिया 481.25 वर्ग किलोमीटर रहेगा। इसकी भराव क्षमता 61.05 एमसीएम रहेगी। 400 करोड की लागत से बनने वाले इस बांध से 9 हजार 200 हेक्टेयर भूमि सिंचित होगी तथा श्योपुर जिले के 29 एवं मुरैना जिले के 7 गांव के लोगो को इससे लाभ प्राप्त होगा।
   कलेक्टर श्री सोलंकी द्वारा राजस्व, कृषि एवं जल संसाधन विभाग के अधिकारियों के साथ स्थल निरीक्षण किया गया तथा इस संबंध में ग्रामीणो से चर्चा की गई।  
(20 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
नवम्बरदिसम्बर 2017जनवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
27282930123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer