समाचार
|| वर्ष 2018 के स्थानीय अवकाश घोषित || प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री गोपाल भार्गव आज दमोह पहुंचे || जिला योजना समिति की बैठक 23 को || पिछड़ावर्ग तथा अल्पसंख्यक वित्त एवं विकास निगम के उपाध्यक्ष श्री मुद्दीन ने की स्वरोजगार योजनाओं की प्रगति की समीक्षा || विभागीय परामर्श दात्री समिति के पालन प्रतिवेदन लेकर आये || प्रदेश के ग्रामों के लिये प्रेरणा स्त्रोत बना ग्राम नरेला "सफलता की कहानी" || एकात्म यात्रा के संबंध में बैठक आज || डिजिटल इंडिया कैंपेन एवं कैशलेस ट्रांजेक्शन को प्रभावी बनाने हेतु ग्रामवार कार्यशाला का आयोजन आज से || सर्वे कार्य में लापरवाही बरतने पर स्वास्थ्य कार्यकर्ता निलम्बित || कृषक संगोष्ठी आयोजित कर किसानों को दी जा रही आधुनिक तकनीकों की जानकारी
अन्य ख़बरें
रोजगार मेले मे 23 करोड़ 39 लाख रू. का ऋण स्वीकृत तथा 854 युवकों को मिला रोजगार
युवकों को स्वावलम्बी बनाने के लिये स्वरोजगार सम्मेलन सार्थक पहल-सांसद
सीधी | 23-नवम्बर-2017
 
  
    सांसद श्रीमती रीती पाठक ने संजय गांधी स्मृति महाविद्यालय मैदान मे आयोजित रोजगार मेला एवं स्वरोजगार सम्मेलन मे संबोधित करते हुये कहा कि मेला एवं स्वरोजगार सम्मेलन का आयोजन विकास की सोच पर आधारित है। यह प्रदेश सरकार की सुशासन की दिशा मे पहल है, तथा युवक एवं युवतियों को स्वरोजगारी बनाने के लिये सार्थक पहल की गई है। आज सरकारी एवं निजी क्षेत्र मे सर्विस सीमित संख्या मे है एसी हालत मे युवकों को अपना स्वयं का रोजगार खोलने हेतु पहल करना अनुकरणीय उदाहरण है। आवश्यक है कि बेरोजगार युवक युवतियों को स्वावलम्बी बनाने के लिये उन्हे बैंकों के माध्यम से ऋण सुविधा दिलाई जाय। उन्होंने कहा कि डी.पी.आई.पी.के माध्यम से 87 हजार महिलाओं को स्वरोजगार बनाने के लिये स्वसहायता समूह से जोडना तारीफ के काबिल है। इसी प्रकार महिला सशक्तीकरण अभियान के तहत महिलाओं को स्वरोजगार उपलब्ध कराके उन्हे स्वाबलम्बी बनाना अपने आप मे अच्छा उदाहरण है। आज आयोजित रोजगार मेले एवं स्वरोजगार सम्मेलन मे 713 युवकों को स्वरोजगार स्थापित करने हेतु 23 करोड 39 लाख रू. का ऋण स्वीकृत कर 15 करोड 89 लाख 52 हजार रू. का ऋण वितरित किया गया। इसके साथ ही 854 बेरोजगार युवक युवतियों को विभिन्न कम्पनियों द्वारा रोजगार देने हेतु चयन किया गया।
   मेले मे विधायक केदार नाथ शुक्ल, नगर पालिक अध्यक्ष देवेन्द्र सिंह, बरिष्ठ समाज सेवी लालचन्द्र गुप्ता, पुनीत नारायण शुक्ला, गुरूदत्तशरण शुक्ला, कलेक्टर दिलीप कुमार, पुलिस अधीक्षक मनोज श्रीवास्तव, डी.एफ.ओ. श्री मिश्रा, अपर कलेक्टर डी.पी.वर्मन, जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक यू.वी.तिवारी, उप संचालक रोजगार अनिल द्विवेदी, अजीविका परियोजना के डा.डी.एस.बाघेल, एस.डी.एम. शैलेन्द्र सिंह, सहित जिला अधिकारी उपस्थित थे।
   विधायक केदारनाथ शुक्ल ने सम्बोधित करते हुऐ कहा कि रोजगार मेले एवं स्वरोजगार सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य युवक और युवतियों को रोजगार श्रृजन के कार्यक्रमो से परिचित कराना हैं। जिले मे स्वरोजगार स्थापित करने की अपार सम्भावनायें हैं। नवाचार के माध्यम से बनोपज, कृषि प्रसंस्करण एवं लघु तथा मध्यम उद्योग स्थापित करके युवकों को स्वाबलम्बी बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि जिले मे वन, तुलसी, कोदो, पलास, एवं वनोपज का भण्डार भरा पडा है, यदि हम बेरोजगार युवकों को कृषि प्रसंस्करण और वनोपज आधारित लघु उद्योग एवं कुटीर उद्योग स्थापित करते है तो यह सार्थक पहल कहलायेगी। उन्होंने कहा कि जिले मे पहले मोटा अनाज होता था, आज कोदो की खेती कम होती जा रही है। जबकि बडे शहरों मे कोदो का महंगा बिकता है। इसी प्रकार कुल्लू का गोंद, छीन के झाडू, लाख का उत्पादन सन की रस्सी, बनाने का उद्योग स्थापित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि शहर की अपेक्षा ग्राम स्तर पर भी उद्योग स्थापित किया जाना चाहिये जिससे बेरोजगार युवकों को प्रोत्साहन मिलेगा।
   नगर पालिका के अध्यक्ष देवेन्द्र सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा बेरोजगार युवक युवतियों को स्वरोजगारी बनाने की दिशा मे अनेक योजनायें प्रारम्भ की गई हैं। इसको स्थापित करने के लिये बेरोजगार युवकों को प्रोत्साहित करने की आवश्यकता हैं। उन्होंने बताया कि वे स्वयं भी उद्योगपति हैं लेकिन इसके सुरूआत मे उद्योग स्थापना के लिये किसी ने प्रोत्साहित नही किया था। लेकिन आज उनका होटल व्यवसाय चल निकला।
   कलेक्टर दिलीप कुमार ने रोजगार मेले की जानकारी देते हुये बताया कि बर्तमान मे शासकीय नौकरी की सम्भावनाएं अत्यन्त कम है। ऐसी दशा मे युवकों को स्वरोजगार स्थापित करने हेतु प्रोत्साहित करने के लिये रोजगार मेले का आयोजन किया गया है। इसका आयोजन तीन चरणों मे किया गया है। पहला- कम्पनी के माध्यम से युवक युवतियों को रोजगार उपलब्ध कराना। दूसरा- बैंक के माध्यम से स्वरोजगार स्थापित करने हेतु विभिन्न हितग्राही मूलक योजनाओं के माध्यम से ऋण सुबिधा दिलवाना। तीसरा- युवाओं को औद्योगिक प्रशिक्षण केन्दों के माध्यम से कौशल का विकास करना। उन्होंने बताया कि 14500 बच्चों का कौशल उन्नयन का प्रशिक्षण प्राप्त करने हेतु पंजीयन किया जा चुका है।
   रोजगार मेले मे सांसद श्रीमती रीती पाठक, विधायक केदारनाथ शुक्ल, नगर पालिका अध्यक्ष देवेन्द्र सिंह और कलेक्टर दिलीप कुमार ने संयुक्त रूप से मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत अरूण गिरि को 3 लाख रू., श्रीमती पूर्णिमा तिवारी को 2 लाख 45 हजार रू, श्रीमती गीता गुप्ता को 5 लाख, बृजेश पटेल को 7 लाख, शिववहोर साकेत को 5 लाख, दिलीप साकेत को 7 लाख, राकेश कुमार को 12 लाख, दिलीप जायसवाल को 10 लाख, कमलेश साहू को 5 लाख, कालू कोल को 25 लाख, अरूण सिंह को 9 लाख 25 हजार, प्रतिभा सिंह को 32 लाख, सुनील गुप्ता को 10 लाख, रामनिवास सोनी को 3 लाख, रूपये का चेक वितरित किया। मेले मे डिवाड इन्टरपाईजेज अहमदाबाद द्वारा 78, इम्पलाईबिलीटी ब्रीज चेन्नई द्वारा 07, रिलायबल फर्स्ट अहमदाबाद द्वारा 96, एल.एन.टी. प्रा.लि. अहमदाबाद द्वारा 104, शिव शक्ति बायो टेक्नोलाजी लिमटेड जबलपुर द्वारा 21, नव किसान बायो प्लांनटेक लिमिटेड जबलपुर द्वारा 23, कॉल मी सर्विस रायपुर छत्तीसगढ द्वारा 16, गिन्नी फिलामेन्स लिमिटेड मथुरा द्वारा 15, फूड एवं काफ्ट इस्टिट्यूट रीवा द्वारा 41, प्रधानमंत्री कौशल विकास मिशन सीधी द्वारा 140, एस.बी.आई. लाइफ इन्सोरेन्श सीधी द्वारा 60, भारतीय जीवन बीमा निगम सीधी द्वारा 31, और आर. सेप्टी सीधी द्वारा 39, प्रथम खजुराहो द्वारा 22, सीपेट भोपाल द्वारा 55 और आई.एफ.एल.एस.द्वारा 40 युवकों कुल 854 को रोजगार के लिये चयनित किया गया।
(22 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
नवम्बरदिसम्बर 2017जनवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
27282930123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer