समाचार
|| आदिवासी मत्स्य उद्योग सहकारी समिति के 40 मत्स्य पालक परिवार हुए आत्मनिर्भर (सफलता की कहानी) || विद्युत शैलचॉक से बढ़ी उदयलाल की आमदनी (सफलता की कहानी) || स्वरोजगार ऋण योजनाओं का वार्षिक लक्ष्य इसी माह पूरा करें || जिला पंचायत की सामान्य सभा की बैठक 23 दिसम्बर को || जिला पंचायतों व नगरीय निकायों के साथ वित्त आयोग की बैठक स्थगित || उप सचिव श्री तिवारी ने स्नेह निकेतन स्कूल का आकस्मिक निरीक्षण किया || एकात्म यात्रा की तैयारियों पर जनपद पंचायत बड़वारा में बैठक का हुआ आयोजन || विद्युत सलाहकार समिति की बैठक संपन्न || खाद्य सुरक्षा अधिकारी श्रीमती सविता सक्सेना निलंबित || चिन्नोनी करेरा में दूध डेयरी पर छापा मार कार्यवाही
अन्य ख़बरें
जन सुनवाई में तीन सौ सत्तर लोगों ने अपनी समस्याओं का आवेदन दिया कलेक्टर को
तीन सौ समस्याओं का जनसुनवाई के दौरान ही कराया गया निदान
सिंगरौली | 14-नवम्बर-2017
 
  
   जिला के विभिन्न अंचलों से आए हुए 370 लोगों ने कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित जन सुनवाई के दौरान कलेक्टर श्री अनुराग चौधरी को अपनी समस्याओं को सुनाते हुए आवेदन दिया। कलेक्टर के द्वारा सभी आवेदन पत्रों का गंभीरता पूर्वक विचार करते हुए जन सुनवाई में ही उपस्थित अधिकारियों से त्वारित निराकरण मौके पर ही कराया गया। आज के जनसुनवाई के दौरान तीन सौ आवेदनों का निराकरण कराया गया। शेष बचे आवेदन पत्रों को संबंधित विभाग के अधिकारियों को समय पर निराकरण किए जाने का निर्देश दिया गया। जनसुनवाई के दौरान कई आवेदन एस.आर पावर के विस्थापितों द्वारा कम्पनी में नौकरी दिलाए जाने सें संबंधित दिए गए, तथा कुछ विस्थापितों के द्वारा रिलायंस पावर मे भी नौकरी दिलाए जाने की मांग की गयी। वही कुछ लोगों के द्वारा गरीबी रेखा में नाम जोड़ने के साथ साथ खसरे की नकल दिलाए जाने की मांग की गई।
   रेडक्रास से 5 लोगों का आर्थिक सहायता राशि दिलायीः- कलेक्टर श्री चौधरी के द्वार जहां 12 गंभीर बिमारियों से पिड़ित व्यक्तियो को इनके ईलाज हेतु आर्थिक सहायता राशि के प्रकरण तैयार करने का निर्देश दिया गया, वही 5 लोगो को ईलाज हेतु बाहर जाने का किराया भी रेडक्रास के माध्यम से दिया गया, जिसमें सुनीता पनिका नवजीवन विहार को 2000 रूपयें इमरान खान को 1000रूपयें हरिहर कुमार पाण्डेय को 3000 रूपयें गीता सिंह को 900 रूपयें सुनीता यादव को 1000 रूपयें की आर्थिक सहायता राशि दिलायी गई।
   एस.आर पावर के अधिकारी को कारण बताओं नोटिसः-जन सुनवाई के दौरान ऐसे विस्थापित कलेक्टर के समक्ष उपस्थित हुए जिनके प्रकरणो का निराकरण कलेक्टर कोर्ट से किया जा चुका था, इसके बाबजूद भी कम्पनी के द्वारा विस्थापितों को कार्य नही दिया गया, कलेक्टर द्वारा कड़ी नारजगी जाहिर करते हुए आदेश का पालन नही करने के फलस्वारूप कम्पनी के अधिकारी को करण बताओं नोटिस आज ही जारी करने हेतु एसडीएम को निर्देश दिया गया।
   कलेक्टर को पी.ए. बताने वाले फर्जी व्यक्ति को तत्काल बंद करने का दिए निर्देशः- जनसुनवाई के दौरान राजेन्द्र सिंह पिता जैय सिंह नेहरू चिकित्सालय जयंत में स्टाफ नर्स के पद पर कार्यरत है उनके द्वारा कलेक्टर से आकर इस आशय का आवेदन दिया गया कि अवधराज शर्मा जो वर्तमान में पलिटेक्निक कालेज में भृत्य पद पर है कुछ माह पहले अस्पताल में अपने किसी रिश्तेदार को भर्ती कराया था, एवं मरिज गंभीर होने पर बनारस के लिए रेफर कर दिया गया था, उसके द्वारा रूपये न होने कि बात कही गई एवं अपना परिचय कलेक्टर महोदय का पी.ए. बताया गया, मेरे द्वारा रूपये 9000 नगद दिया गया था, किन्तु आज दिवस तक वह व्यक्ति मेरा पैसा वापस नही किया जब मेरे द्वारा पता लगाया गया तो यह  बात सामने अयी की यह पोलिटेक्निक में भृत्य है, तथा पैसा मागने पर मार पीट पर उतारू हो जाता है इसके विरूद्ध मेरे द्वारा एफ आई आर भी दर्ज करायी गई है, किन्तु इसके विरूद्ध अभी कोई कार्यवाही नही हुयी है, कलेक्टर के द्वारा फर्जी पी.ए. के विरूद्ध तत्काल कड़ी कार्यवाही करते हुए एसडीएम को निर्देश दिए कि आज ही संबंधित थाना की ओर उक्त आवेदन को भेजकर कड़ी कार्यवाही कराया जाय।
   जनसुनवाई में इनकी रही उपस्थितः- जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री प्रियंक मिश्रा, संयुक्त कलेक्टर श्री सीताराम प्रधान,एसडीएम श्री विकास सिंह श्री राजेश शुक्ला, डिप्टी कलेक्टर श्री संजय जैन, उपसंचालक कृषि श्री अशीष पाण्डेय मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी राजेश श्रीवास्तव, सहित जिला के अधिकारी उपस्थित रहे।
(29 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
नवम्बरदिसम्बर 2017जनवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
27282930123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer