समाचार
|| राज्य खाद्य आयोग के अध्यक्ष श्री स्वाई आज करेंगे योजनाओं एवं कार्यक्रमों की संभाग स्तरीय समीक्षा || कलेक्टर ने ली अधिकारियों एवं महाविद्यालयों के प्राचार्यों की बैठक "छात्रसंघ चुनाव" || देवांश पाण्डे की मृत्यु की दण्डाधिकारी जांच के तहत साक्ष्य आमंत्रित || केन्द्रीय मंत्री सुश्री उमा भारती का आगमन आज || देश की टेक्सटाइल इंडस्ट्री का हब बना मध्यप्रदेश || जैतहरी में संचालित शिशु स्कूल में मुख्यमंत्री को पा कर हर्षित हुए नवनिहाल || मुख्यमंत्री श्री चौहान का हेलीपैड में किया गया स्वागत || मुख्यमंत्री ने किया कन्या पूजन || अन्त्योदय मेले में दी गई हितग्राहीमूलक योजनाओं की जानकारी || जैतहरी में आयोजित विकास यात्रा कार्यक्रम के दौरान 35 सौ हितग्राहियों को 15 करोड़ के मिले हितलाभ
अन्य ख़बरें
सूखे से प्रभावित एक भी किसान लाभान्वित होने से वंचित नहीं रहे
ग्राम पंचायतों से कराया जाये सर्वेक्षण कार्य का सत्यापन, फसलों की क्षति के वास्तविक सर्वेक्षण उपरान्त रेण्डम निरीक्षण किया जायेगा, कलेक्टर ने दिये निर्देश
टीकमगढ़ | 11-नवम्बर-2017
 
 
 
   कलेक्टर श्री अभिजीत अग्रवाल ने निर्देशित किया है कि सूखे से प्रभावित एक भी किसान लाभान्वित होने से वंचित नहीं रहे। उन्होंने निर्देशित किया कि जिले में सूखे से प्रभावित प्रत्येक खेत का सर्वेक्षण कर प्रभावित कृषकों को राहत राशि स्वीकृत की जाये। उन्होंने बताया कि राज्य स्तरीय प्रबंधन समिति की बैठक में लिये गये निर्णय अनुसार सूखे से प्रभावित फसलों का राजस्व पुस्तक परिपत्र 6(4) के तहत सर्वेक्षण कराया जाकर प्रभावित कृषकों को राहत राशि प्रदाय कराया जाना है। उन्होंने बताया है कि जिले की सभी तहसीलें टीकमगढ़, बल्देवगढ़, जतारा, पलेरा, पृथ्वीपुर, निवाड़ी, ओरछा, खरगापुर, मोहनगढ़, लिधौरा तथा बड़ागांव (धसान) गंभीर रूप से सूखे से प्रभावित घोषित की गई हैं। उन्होंने कहा कि इस कार्य में विशेष सतर्कता एवं संवेदशीलता की आवश्यकता है। उन्होंने निर्देशित किया कि इस कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। श्री अग्रवाल ने इस संबंध में सभी संबंधितों को निर्देश जारी किये हैं।
ग्राम पंचायतों से कराया जाये सर्वेक्षण कार्य का सत्यापन
    श्री अग्रवाल ने निर्देशित किया कि सर्वेक्षण का कार्य संयुक्त दल द्वारा शीघ्र पूर्ण करायें। उन्होंने निर्देशित किया कि फसल क्षति के सर्वेक्षण कार्य राजस्व, कृषि, उद्यानिकी, पंचायत, सिंचाई एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों/कर्मचारियों के संयुक्त दल द्वारा कराया जाये। सर्वेक्षण दल खेत दर खेत जाकर प्रभावित कृषकों के खेतों में लगी फसल को हुई क्षति का आंकलन करेगा। सर्वेक्षण कार्य पूर्ण होने के पश्चात प्रभावित कृषकों की सूची पढ़कर सुनाई जायेगी तथा ग्रामवासियों के दावे आपत्ति, यदि कोई हो तो प्राप्त की जायेगी। उन्होंने निर्देशित किया कि इस प्रकार प्राप्त सभी दावे आपत्तियों का निराकरण सर्वे दल द्वारा किया जाकर सूची को ग्राम पंचायतों से सत्यापित कराकर राहत राशि स्वीकृत करने के लिये तहसीलदार को प्रस्तुत किया जाये।
फसलों की क्षति के वास्तविक सर्वेक्षण उपरान्त रेण्डम निरीक्षण किया जायेगा
    कलेक्टर श्री अग्रवाल ने निर्देशित किया कि फसलों की क्षति के वास्तविक सर्वेक्षण उपरान्त रेण्डम निरीक्षण संबंधित वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा अपने क्षेत्राधिकार में किया जाये जिससे सर्वेक्षण कार्य में किसी प्रकार की त्रुटि नहीं रहें। उन्होंने निर्देशित किया कि फसल क्षति का सर्वेक्षण करने के उपरान्त ग्रामवार प्रकरण तैयार किये जायें, जिसमें प्रभावित कृषकों के खाते का आकार, बोयी गई फसल, कुल धारित रकबा, बोया गया रकबा, लघु एवं सीमान्त कृषक तथा लघु एवं सीमान्त कृषक से भिन्न कृषक, बैंक खाता क्रमांक, समग्र आई.डी. क्रमांक एवं मोबाईल नंबर आदि का स्पष्ट रूप से उल्लेख हो। इस जानकारी के आधार पर राजस्व पुस्तक परिपत्र 6(4) के अनुसार प्रत्येक तहसील कार्यालय में प्रारूप-एक में पंजी संधारित की जाये जिसमें प्राकृतिक प्रकोप से हुई हानि एवं उपलब्ध कराई गई सहायता का पूर्ण विवरण रखा जाये।
    श्री अग्रवाल ने निर्देशित किया कि सभी तहसीलदार यह सुनिश्चित करें कि सर्वेक्षण सूची का विधिवत प्रकाशन किया जाकर प्राप्त दावे, आपत्तियों का निराकरण कर दिया गया है। इस आशय के प्रमाण-पत्र का प्रकरण में उल्लेखित कर फसल क्षति के आधार पर ग्रामवार प्रकरण तैयार कर राजस्व पुस्तक परिपत्र 6(4) में दिये गये प्रावधानों के अंतर्गत सक्षम अधिकारी पात्रतानुसार राहत राशि स्वीकृत करने की कार्यवाई करें।
 
(13 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अक्तूबरनवम्बर 2017दिसम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer