समाचार
|| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया के सपने को साकार करता ई दक्ष केंद्र उमरिया || जिला एवं सत्र न्यायाधीश के अध्यक्षता में ग्राम पालिया में विधिक विधिक सेवा सहायता शिविर का आयोजन होगा || नेशनल हैण्डलूम एक्सपो का समापन आज || जिले की मदिरा एवं भांग दुकान के निष्पादन की कार्यवाही पूर्ण || जिले में 30 गेहूं खरीदी केंद्र के माध्यम से होगा किसानो का पंजीयन || शासकीय खर्च पर बुजुर्गो को करायी जायेगी वैष्णो देवी की तीर्थ यात्रा || 10 वीं - 12 वीं के प्रवेश पत्रों में त्रुटि सुधार 28 तक || इंदिरा गांधी राष्ट्रीय निःशक्त पेंशन योजना || शांति समिति की बैठक 26 फरवरी को || किसान प्याज भण्डार योजना का लाभ लें और अनुदान पायें
अन्य ख़बरें
निराश्रित बच्चों को गोद देने की प्रक्रिया में तेजी लाई जाए
केन्द्रीय दत्तक गृहण-अभिकरण के अध्यक्ष ने ली उज्जैन में बैठक
उज्जैन | 05-नवम्बर-2017
 
   
 
       बालगृहों के रहवासी निराश्रित बच्चों को उनके माता मिले, इसके लिए ऐसे बच्चों को गोद देने की प्रक्रिया में तेजी लाई जाए।  अभी यह प्रक्रिया धीमी है, जो चिन्ता का विषय है।  यह बात केन्द्रीय दत्तक गृहण अभिकरण (कारा) एवं महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार की एडवाइजरी समिति के अध्यक्ष श्री मन्दा रामचन्द्र रेड्डी ने उज्जैन में आयोजित बैठक मे कही वे आज रविवार को उज्जैन बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष एवं सदस्यों के साथ बैठक ले रहे थे।  इस अवसर पर केन्द्रीय दत्तक गृहण अभिकरण के सदस्य श्री दुर्गेश केसवानी, श्री आशिष कुमार सिंह, श्री सौरभ मिश्रा, उज्जैन बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष श्री जितेन्द्र अग्रवाल, सदस्यगण श्री मोहन खण्डेलवाल, श्री संजय सक्सेना, नीरा जैन, विद्या व्यास, उप संचालक महिला सशक्तिकरण श्री राजेश गुप्ता, जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी श्री साबीर एहमद सिद्दीकी उपस्थित थे।  
        बैठक में श्री रामचन्द्र रेड्डी ने कहा कि निराश्रित बालकों को अनाथ नहीं रखा जाएं उनकों माता-पिता अवश्य मिलना चाहिए।  इसके लिए बाल कल्याण समिति उत्तरोत्तर प्रयास करें।  अभी गोद दिये जाने वाले बच्चो की संख्या अपेक्षाकृत कम है।  इसप्रक्रिया में तेजी लाने की बहुत जरूरत है।  सभी को मिलकर सामुहिक रूप से इस संबंध में प्रयास करना चाहिए।  उन्होंने इस प्रक्रिया के बारे में शासन के नियमों-उपनियमों, कानूनों की जानकारी भी दी।  उन्होंने बताया कि कारा द्वारा इस संबंध में पूरे देशभर में भ्रमण कर प्रक्रियागत तेजी के लिए प्रयास किया जा रहा है। जिससे कि ज्यादा से ज्यादा बच्चे गोद दिए जा सके।  बैठक में सदस्य श्री दुर्गेश केसवानी ने भी इस संबंध में अतिरिक्त प्रयासों की आवश्यकता जताई।  बैठक में उपस्थित उज्जैन के  बाल कल्याण समिति के सदस्यों ने भी अपने सुझाव प्रस्तुत किए।  
(111 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2018मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2930311234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627281234
567891011

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer