समाचार
|| शासकीय खर्च पर बुजुर्गो को करायी जायेगी वैष्णो देवी की तीर्थ यात्रा || 10 वीं - 12 वीं के प्रवेश पत्रों में त्रुटि सुधार 28 तक || इंदिरा गांधी राष्ट्रीय निःशक्त पेंशन योजना || शांति समिति की बैठक 26 फरवरी को || किसान प्याज भण्डार योजना का लाभ लें और अनुदान पायें || जनकल्याणकारी योजनाए करों की वसूली एवं अन्य सामाधान हेतु शिविर संपन्न || श्रम न्यायालय को सौपने के आदेश जारी || अजा/जजा विद्यार्थियों को मुफ्त प्रशिक्षण || चुनौतियों से भयभीत होने की नहीं, चुनौतियों का सामना कर सकारात्मक परिणाम हासिल करने की जरूरत || नि:शक्त छात्रों को मिलेगा लेपटाप एवं मोटराइज्ड ट्रायसिकल
अन्य ख़बरें
जल स्‍त्रोतों से सिंचाई पर पूर्णत: प्रतिबंध
दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के अधीन आदेश पारित
अशोकनगर | 02-नवम्बर-2017
 
   
   कलेक्‍टर एवं जिला मजिस्‍ट्रेट श्री बी.एस.जामोद द्वारा अशोकनगर के सम्पूर्ण क्षेत्र में दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 की धारा 144 एवं म.प्र. पेयजल परिरक्षण अधिनियम, 1986 एवं संशोधन अधिनियम 2002 के अन्तर्गत नलकूप खनन हेतु गतिविधियों पर नियंत्रण हेतु प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया गया है। इस आदेश के जारी होने की तिथि से आगामी आदेश तक जिला अशोकनगर की सम्पूर्ण भौगोलिक सीमाओं (समस्त नगरों एवं कस्बों) में आगामी आदेश तक समस्त प्रकार के नल-कूप खनन पर प्रतिबंध लागू किये जाने संबंधी आदेश की निरंतर बनाये रखते हुए जल स्‍त्रोतों से सिंचाई किये जाने पर पूर्णता प्रतिबंध रहेगा।
   उल्‍लेखनीय है कि जिला अशोकनगर अंतर्गत सम्पूर्ण क्षेत्र में अल्प बर्षा होने के कारण म.प्र.शासन द्वारा जिला अशोकनगर को सूखा प्रभावित जिलों की सूची में रखा गया है। जिले में विभिन्‍न व्‍यक्तियों/कृषकों द्वारा नदी, नाले, तालाब एवं अन्‍य सार्वजनिक जल स्‍त्रोतों से सिंचाई किये जाने के कारण भूमिगत जल स्तर लगातार नीचे जा रहा है, इस संबंध में कार्यपालन यंत्री, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग, अशोकनगर द्वारा मौखिक एवं लिखित रूप से संज्ञान कराया गया था कि जिला अशोकनगर के विभिन्न क्षेत्रों में निवासित व्यक्तियों/कृषकों द्वारा नदी, नाले, तालाब एवं अन्‍य सार्वजनिक जल स्‍त्रोतों के माध्‍यम से निरंतर सिंचाई कार्य कराया जा रहा है।
   उक्‍त सिंचाई कार्य से जिले के विभिन्‍न नदी, नालें, तालाब एवं सार्वजनिक जल स्‍त्रोतों में जल की कमी हो रही है, जिसके परिणाम स्‍वरूप भूमिगत जल स्तर लगातार नीचे जा रहा है, जिससे निकट भविष्य में गंभीर जल संकट उत्पन्न होने की आशंका है। जिले में जन सामान्‍य को निर्वाद रूप से पेयजल प्राप्‍त होता रहे। इस उद्देश्‍य व लगातार गिरते भूमिगत जल-स्तर के कारण उत्पन्न होने वाले गंभीर जल संकट से संबंधित परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुए उक्‍त आदेश जारी किया गया है। यदि कोई व्‍यक्ति/कृषक/संस्‍था/ संगठन जिला अशोकनगर की सम्‍पूर्ण भौगोलिक सीमाओं(समस्‍त नगरों एवं कस्‍बों) में नदी नाले तालाब एवं अन्‍य सार्वजनिक जल स्‍त्रोतों से सिंचाई करते/ कराते हुए पाया जाता है तो उसके विरूद्ध दण्‍डात्‍मक कार्यवाही की जायेगी।
(114 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2018मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2930311234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627281234
567891011

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer