समाचार
|| राज्य खाद्य आयोग के अध्यक्ष श्री स्वाई आज करेंगे योजनाओं एवं कार्यक्रमों की संभाग स्तरीय समीक्षा || कलेक्टर ने ली अधिकारियों एवं महाविद्यालयों के प्राचार्यों की बैठक "छात्रसंघ चुनाव" || देवांश पाण्डे की मृत्यु की दण्डाधिकारी जांच के तहत साक्ष्य आमंत्रित || केन्द्रीय मंत्री सुश्री उमा भारती का आगमन आज || देश की टेक्सटाइल इंडस्ट्री का हब बना मध्यप्रदेश || जैतहरी में संचालित शिशु स्कूल में मुख्यमंत्री को पा कर हर्षित हुए नवनिहाल || मुख्यमंत्री श्री चौहान का हेलीपैड में किया गया स्वागत || मुख्यमंत्री ने किया कन्या पूजन || अन्त्योदय मेले में दी गई हितग्राहीमूलक योजनाओं की जानकारी || जैतहरी में आयोजित विकास यात्रा कार्यक्रम के दौरान 35 सौ हितग्राहियों को 15 करोड़ के मिले हितलाभ
अन्य ख़बरें
भावांतर भुगतान योजना को प्रभावी बनाने के लिये जिला अधिकारियों की बैठक संपन्न
-
छिन्दवाड़ा | 31-अक्तूबर-2017
 
   
   कलेक्टर श्री जे.के.जैन ने गत दिवस भावांतर भुगतान योजना को प्रभावी व आम किसान तक पहुंच बनाने के लिये जिला अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में सी.ई.ओ. जिला पंचायत और ए.डी.एम. सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
   बैठक में कलेक्टर श्री जैन ने निर्देश दिये कि मंडी की कार्यप्रणाली पर सभी अधिकारी सतत् निगरानी रखे, किसानों के साथ संवाद स्थापित करे और किसानों को सही दाम मिले, इसके लिये किसानों को जागरूक करे। पेम्‍प्लेट बनाये, होर्डिंग लगाये, योजनांतर्गत साहित्य का वितरण करे। सभी संबंधित जिला अधिकारियों को प्रशिक्षण दें और बताये कि कृषको के लिये मंडी में क्या-क्या सुविधा उपलब्ध है। मंडी में कृषको के लिये स्थान उपलब्ध कराये, मंडी व्यापारी को सूचना पत्र दें। गांव में यदि छोटा किसान है और उन्हें फसल को मंडी में लाने में दिक्कत होती है तो उनकी फसलों को मंडी तक पहुंचाने की व्यवस्था सुनिश्चित करे। इस कार्यक्रम में किसानों के प्रतिनिधि को जरूर रखे।
   कलेक्टर ने कहा कि आस पास के प्रचलित भाव को प्रदर्शन पटल पर लिखा जाये। न्यूनतम और अधिकतम मूल्य को किसानों तक मेसेज द्वारा पहुंचाया जाये और बताया जाये कि फसल में नमी के कारण रेट गिरने की स्थिति बनती है। अत: किसान नमीरहित फसल का ही विक्रय करे। हर मंडी सचिव ध्यान रखें कि मंडी गेट पर परामर्श सेंटर बनाये जिसमें छाया, खाने-पीने, बैठने की व्यवस्था के साथ ही किसानों को सुविधाओं के संबंध में जानकारी दी जाये। कलेक्टर ने कहा कि यदि किसान गोदान अनुदान का लाभ लेता है तो उसे भावांतर का लाभ नहीं मिलेगा। उन्होंने कहा कि किसानों की फसल तुलाई के समय नापतौल अधिकारी निगरानी रखे। साथ ही हर मंडी में कलेक्टर के प्रतिनिधि के रूप में एक वरिष्ठ अधिकारी रहेंगे।
   कलेक्टर ने अपने प्रतिनिधि के रूप में छिन्दवाड़ा मंडी में फूड ऑफिसर, चौरई में डी.आर.सी.एस., अमरवाड़ा मे डी.डी.ए., सौंसर में जी.एम.सी.सी.बी., पिपला और पांढुर्णा में ए.डी. एग्रीकल्चर श्री ठाकुर व जैन को रखें। कलेक्टर ने कहा कि ब्लॉक लेवल प्रशिक्षण का भी आयोजन करें जिसमें सचिव, पटवारी और स्थानीय अधिकारी को भी शामिल किया जाये। कंट्रोल रूम स्थापित किया जाये जिसके प्रभारी एस.एल.आर. रहेंगे। कलेक्टर ने स्पष्ट तौर पर कहा कि किसानों को किसी प्रकार की तकलीफ नही होना चाहिए, उन्हे उचित दाम मिले, वे किसी ठगी का शिकार न हो, इसलिये अधिकारी रोज मंडियो का निरीक्षण करते रहे। विदयुत अधिकारी मंडियो में विद्युत आपूर्ति संचित रखे और साथ में यह ध्यान रखा जाये कि मंडियो में कोई धूम्रपान न करे क्योंकि इससे आगजनित घटनायें होती है।
(24 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अक्तूबरनवम्बर 2017दिसम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer