समाचार
|| जनसुनवाई || लंबे समय से लंबित प्रकरणों की विभागवार समीक्षा || प्रीमैट्रिक स्कालरशिप एवं पोस्टमैट्रिक स्कालरशिप के आवेदन आनलाईन प्रेषित करने की तिथि में वृद्धि || बाकी क्षेत्रों में भी उतने ही कार्यरत फिर वसूली में अंतर क्यों ? || जन सुनवाई में कलेक्टर ने केतराम को एम्बुलेंस से भेजा जिला अस्पताल || स्वच्छता हर एक की पहली और प्राथमिक जिम्मेदारी होनी चाहिये डी.एफ.पी. || जिले में वर्षा की स्थिति || कलेक्टर श्री गुप्ता ने जनसुनवाई की || चिनगवाह की जानकी साकेत की रोगी वेतन वृद्धि || गांधी जयंती मद्य निषेध सप्ताह 2 से 8 अक्टूबर तक आयोजित किया जायेगा
अन्य ख़बरें
कमिश्नर ने छात्रावास अधीक्षिका को तत्काल हटाने के दिये निर्देश
खण्ड शिक्षा अधिकारी बुढ़ार की दो वेतन वृद्धियां रोकने के दिये निर्देश, प्री-मैट्रिक छात्रावास खम्हरिया के निरीक्षण के दौरान कमिश्नर ने पाई गंभीर अनियमितताएं
शहडोल | 14-सितम्बर-2017
 
 
    कमिश्नर शहडोल संभाग श्री बी.एम.शर्मा और कलेक्टर श्री मुकेश शुक्ला ने बुधवार को शहडोल जिले के बुढ़ार विकास खण्ड के प्री-मैट्रिक कन्या छात्रावास खम्हरिया का आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान छात्रावास में गंभीर अनियमितताएं पाये जाने पर कमिश्नर ने छात्रावास अधीक्षिका चंद्रवती सिंह को तत्काल हटाने के निर्देश दिये वहीं कमिश्नर ने खण्ड शिक्षा अधिकारी बुढ़ार की दो वेतन वृद्धियां रोकने के निर्देश मौके पर उपस्थित अधिकारियों को दिये। छात्रावास निरीक्षण के दौरान कमिश्नर एवं कलेक्टर ने छात्रावास के सभी कक्षों का निरीक्षण किया, निरीक्षण के दौरान छात्रावास भवन में कीचड़ होने के बावजूद छात्रावास अधीक्षिका द्वारा छात्रावास से बाहर भोजन बनाने पर कमिश्नर ने कड़ी नाराजगी व्यक्त की। इस दौरान कमिश्नर ने छात्रावास परिसर में छात्रावासी बच्चों के लिये भोजन तैयार करने की प्रक्रिया का भी अवलोकन किया। कमिश्नर और कलेक्टर ने 50 छात्राओं के लिये तैयार भोजन के निरीक्षण के दौरान पाया कि भोजन गुणवत्तापूर्ण नहीं पाया गया वहीं भोजन सिर्फ 10 छात्राओं के लिये ही भोजन पाया गया, जबकि छात्रावास में 50 छात्रायें अध्ययनरत हैं। इस संबंध में कमिश्नर ने मौके पर उपस्थित छात्रावास अधीक्षिका चंद्रवती सिंह से जानकारी ली, जानकारी लेने पर चंद्रवती सिंह ने कोई जवाब नहीं दिया।
जिस पर कमिश्नर ने छात्रावास अधीक्षिका चंद्रवती सिंह को तत्काल हटाने के निर्देश मौके पर उपस्थित सहायक आयुक्त आदिवासी विकास को दिये। कमिश्नर ने छात्रावास भवन के निरीक्षण के दौरान पाया कि छात्रावासी छात्राओं के कक्षों में पर्याप्त रोशनी नहीं मिली तथा किसी कमरे मे पंखे नहीं मिले। जिस पर कमिश्नर ने छात्रावास अधीक्षिका से इस संबंध में पूछताछ की। छात्रावास अधीक्षिका द्वारा समुचित जवाब नहीं देने पर कमिश्नर ने कड़ी नाराजगी व्यक्त की तथा मौके पर उपस्थित सहायक आयुक्त आदिवासी विकास को निर्देश दिये कि शहडोल जिले के सभी छात्रावासों की स्थिति में तत्काल सुधार लायें। कमिश्नर ने ताकिद किया कि सभी छात्रावासों में समुचित साफ-सफाई होना चाहिए, छात्र-छात्राओं के कक्षों में शिक्षण के लिये समुचित रोशनी होनी चाहिए, सभी कक्षों में मच्छररोधी जालियां लगी होना चाहिए, अच्छे बिस्तर और गद्दे, चादर होनी चाहिए तथा गद्दे-चादरों की समय-समय पर साफ-सफाई होनी चाहिए। कमिश्नर ने चेतावनी देते हुये कहा कि छात्रावासों की स्थिति में तत्काल सुधार लायें अन्यथा सख्त कार्यवाही की जायेगी। कमिश्नर ने यह भी निर्देश दिये कि छात्रावासी छात्र-छात्राओं को गुणवत्तापूर्ण भोजन समुचित मात्रा में मिलना चाहिए तथा समय-समय पर नाश्ता आदि भी मिलना चाहिए। कमिश्नर ने निर्देश दिये हैं कि अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग एवं पिछड़ा वर्ग के छात्र-छात्राओं के लिये मध्यप्रदेश शासन विभिन्न कल्याणकारी योजनाएं संचालित कर रही है, उन्हें समुचित शिक्षण व्यवस्थाएं मुहैया करा रही है। इनका योजनाओं का लाभ इन वर्ग के छात्र-छात्राओं को मिलना ही चाहिए। उन्होने चेतावनी देते हुये कहा कि छात्रावासों की स्थिति नहीं सुधरने पर जवाबदेह अधिकारियों, कर्मचारियों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जायेगी।  
 
(12 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2017अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
2526272829301
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer