समाचार
|| अपर कलेक्टर की अध्यक्षता में स्वास्थ्य समिति की बैठक संपन्न || 730 किसानों को मिली 1 करोड़ 81 लाख से अधिक की भावांतर राशि || जनसंपर्क मंत्री ने थरेट पहुंचकर शोक संवेदना व्यक्त की || रतनगढ़ में गायत्री महायज्ञ में सम्मिलित हुए जनसंपर्क मंत्री || जनसंपर्क मंत्री ने मोहन ज्ञानानी के निधन पर शोक संवेदना व्यक्त की || सेवा कार्य सहमति से चलते हैं, दमोह को अवारा पशुओं से मुक्त करने सबको मिलकर सफल बनाना होगा- सांसद प्रहलाद पटैल || वीरांगना की मूर्ति बेटियों को आगे बढ़ने के लिये उत्साह उर्जा और प्रेरणा देती है-वित्तमंत्री श्री मलैया || रोजगार मेले में तीन सौ बारह प्रकरणों को स्वीकृत कर नौ करोड़ 76 लाख की राशि से हितग्राहीयों को किया गया लाभान्वित || निर्धारित अवधि तक बेची गई सोयाबीन, उड़द एवं मूंग फसलों के जिन्सों की भावान्तर भुगतान योजनान्तर्गत अन्तर की राशि नौ सौ तेरह किसानों के खाते में || अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति 2017-18 एव नवीनी करण आवेदनों के लिए सूचना जारी
अन्य ख़बरें
एनीमिया की रोकथाम हेतु बच्चों को खिलाई जाएगी आई.एफ.ए.गोली
आई.एफ.ए.गोली पर्याप्त संख्या में स्कूलों एवं आंगनवाड़ी केन्द्रों में पहुंचाने के कलेक्टर ने दिए निर्देश, कलेक्टर द्वारा शिक्षकों की निगरानी में विद्यार्थियों को आई.एफ.ए.गोली खिलाने के निर्देश
गुना | 14-सितम्बर-2017
 
 
 
   कलेक्टर श्री राजेश जैन ने एनीमिया की रोकथाम हेतु स्कूलों एवं आंगनवाड़ी केन्द्रों में पर्याप्त संख्या में आई.एफ.ए. गोलियां पहुंचाने के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए हैं, ताकि सभी बच्चों को गोलियां खिलाई जा सकें। कलेक्टर ने यह निर्देश यहां सम्पन्न हुई साप्ताहिक आयरन फोलिक अनुपूरण कार्यक्रम की समीक्षा बैठक में दिए। बैठक में मुख्य  चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.रामवीर सिंह रघुवंशी समेत लोक स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी और लोकशिक्षण विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।
   कलेक्टर ने कहा कि एनीमिया की रोकथाम हेतु बच्चों को आई.एफ.ए. गोली खिलाने के कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए लोक स्वास्थ्य विभाग एवं लोकशिक्षण विभाग के मध्य बेहतर समन्वय का होना जरूरी है। कलेक्टर ने स्कूलों एवं आंगनवाड़ी केन्द्रों में आई.एफ.ए. गोलियां पहुंचाने के कार्य हेतु स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाने के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए। कलेक्टर ने जिला परियोजना समन्वयक जिला शिक्षा केन्द्र को निर्देश दिए कि शिक्षकों को निर्देशित करें कि वे अपने समक्ष बच्चों को आई.एफ.ए. गोली खिलाना सुनिश्चित करें।
   कलेक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी को हिदायत दी कि शिक्षकों को अवगत कराना सुनिश्चित करेंकि वे बच्चों को बताएं कि आई.एफ.ए. गोली खाने से कोई नुकसान नहीं होता। इसके लिए शिक्षक बच्चों को गोली खिलाने के पूर्व स्वयं गोली  खाएं, जिससे बच्चे आसानी से गोलियां खा सकें। कलेक्टर ने कहा कि बच्चों को भोजन के पूर्व हाथ धुलाई का महत्व समझाते हुए भोजन उपरान्त उन्हें आई.एफ.ए. गोली का सेवन कराया जाए।
   कलेक्टर ने जिले में साप्ताहिक आयरन अनुपूरण कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए खण्ड चिकित्सा अधिकारियों को प्रशिक्षण दिलाने  के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए। कलेक्टर ने यह कार्य सुनियोजित ढंग से करने की हिदायत दी। उन्होंने दूरस्थ अंचल में स्थित स्कूलों एवं आंगनवाड़ी केन्द्रों में आई.एफ.ए. गोलियां पहुंचाने पर विशेष ध्यान केन्द्रित करने के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए।
   मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने जानकारी दी कि गुना जिले में एनीमिया की प्रीवलेंस दर 67.4 प्रतिशत है। एनीमिया के कारण बच्चों की बौद्धिक एवं शारीरिक विकास, शालेय उपस्थिति व शैक्षणिक प्रगति पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इसकी रोकथाम हेतु आई.एफ.ए गुलाबी गोली कक्षा 1 से 5 वर्ष के बच्चों को तथा आई.एफ.ए. नीली गोली कक्षा 6 से 12 वर्ष के बच्चों को शिक्षक की निगरानी में खिलाई जाएगी।
 
(70 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अक्तूबरनवम्बर 2017दिसम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer