समाचार
|| कलेक्टर कार्यालय में पदस्थ अधिकारियों के बीच नए सिरे से कार्य विभाजन || केन में पेट्रोल/डीजल दिए जाने पर होगा प्रकरण दर्ज || बेरोजगारों को रोजगार दिलाने के हरसंभव प्रयास होगें - श्री देशमुख || अन्तर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस पर कार्यक्रम हेतु गठित समिति की बैठक आज || माता, पिता और वरिष्ठ नागरिक भरण-पोषण के तहत समिति की बैठक आज || जगन्नाथपुरी यात्रा 2 अक्टूबर को (मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना) || स्व. वत्स जैसा बेबाक पत्रकार नहीं देखा – श्री बाबूलाल जैन || केन्द्रीय जेल में दिया जा रहा है बन्दियों को आईटीआई प्रशिक्षण || कलेक्टर सहित सभी अधिकारियों ने की अपने-अपने कार्यालयों की सफाई || सेवढा विधायक प्रदीप अग्रवाल ने ग्राम उचाड में किया सी सी रोड का लोकार्पण
अन्य ख़बरें
भावान्तर योजना रबी में पायलट योजना के रूप में चलाई जायेगी
किसानों के हित में मंडियों के विकास के साथ-साथ, किसानों की आय दोगुनी करने का सरकार ने लिया संकल्प, कृषि मंत्री एवं ऊर्जा मंत्री सहित अन्य जनप्रतिनिधियों, ने उज्जैन कृषि मंडी के विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकार्पण किया
उज्जैन | 30-अगस्त-2017
 
   
 
   बलराम जयन्ती के अवसर पर कृषि उपज मंडी प्रांगण उज्जैन में कृषक सम्मेलन के अवसर पर विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकार्पण कृषि मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन एवं ऊर्जा मंत्री श्री पारस जैन सहित अन्य जनप्रतिनिधियों ने किया। कृषि मंत्री श्री बिसेन ने इस अवसर पर किसानों से कहा कि भावान्तर योजना रबी के मौसम में पायलट योजना के रूप में चलाई जायेगी। किसानों के हित में मंडियों के विकास के साथ-साथ किसानों की आय दोगुनी करने का सरकार ने संकल्प लिया है। भावान्तर योजना किसानों को कृषि उपज का न्यूनतम समर्थन मूल्य सुनिश्चित करने और मंडी दरों में गिरावट से किसानों को सुरक्षा प्रदान करने के लिये योजना बनाई गई है। किसानों का पंजीयन 15 अक्टूबर तक भावान्तर भुगतान योजना पोर्टल पर किया जायेगा। योजना का लाभ मध्य प्रदेश के किसान राज्य सरकार द्वारा अधिसूचित फसल पर ले सकेंगे। योजना में पंजीयन के बाद किसानों को युनिक आईडी प्रदान किया जायेगा।
8 करोड़ 70 लाख की अनौपचारिक स्वीकृति
    कृषि मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन ने कहा कि कृषि उपज मंडी उज्जैन के अध्यक्ष श्री बहादुरसिंह बोरमुंडला के द्वारा मंडी एवं फल मंडी के विकास कार्य के लिये 17 करोड़ रूपये की डीपीआर प्रस्तुत की गई है। कृषि मंत्री ने इसमें से आठ करोड़ 70 लाख रूपये की अनौपचारिक स्वीकृति प्रदान की। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार देश को आजाद कराने में स्वतंत्रता संग्राम सैनानियों ने संकल्प लिया और देश को आजाद कराया, उसी तरह राज्य एवं केन्द्र सरकार का भी संकल्प है कि किसानों के हित में उनकी फसलों का दोगुना लाभ हो और कृषि का धंधा लाभ का हो। फसलों में प्राकृतिक आपदा से होने वाले नुकसान में आर्थिक मदद के लिये राशि में वृद्धि की गई है। श्री बिसेन ने कहा कि उज्जैन की कृषि मंडी ‘ए’ क्लास बनायेंगे। इस कार्य में राज्य सरकार कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेगी। मंडी में किसानों की उपज को तुलवाने में तुलावटी हम्मालों का ध्यान रखते हुए उनके मानव अधिकारों का हनन न हो, इस हेतु एक क्विंटल के बोरे के बजाय 50 किलो के बोरे से ही काम करवाया जायेगा। कृषि उपज मंडियों में किसानों के हित में निरन्तर विकास के काम कराये जा रहे हैं। इसके लिये राज्य सरकार ने उज्जैन जिले की मंडियों के साथ-साथ प्रदेश की अन्य मंडियों में विकास के लिये करोड़ों रूपये खर्च किये जा रहे हैं और यह विकास का कार्य निरन्तर चलता रहेगा। किसानों के हित में राज्य सरकार ने प्रदेश के किसानों से आठ करोड़ 72 लाख मैट्रिक टन प्याज समर्थन मूल्य पर खरीदा है। किसान की आकस्मिक दुर्घटना घटित होने पर अलग-अलग मद से राशि स्वीकृत की जा रही है। इस कार्य में मंडी निधि से भी राशि प्रदान की जा रही है।
कृषि कर्मण अवार्ड में ऊर्जा विभाग का महत्वपूर्ण योगदान
    कार्यक्रम में ऊर्जा मंत्री श्री पारस जैन ने किसानों को सम्बोधित करते हुए कहा कि कृषि विभाग एवं ऊर्जा विभाग के बेहतर तालमेल से राज्य सरकार को केन्द्र सरकार ने लगातार कृषि कर्मण अवार्ड से नवाजा गया है। इस कार्य में कृषि विभाग के साथ ऊर्जा विभाग का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। उन्होंने राज्य सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि उज्जैन की कृषि मंडी में निरन्तर विकास के काम हो रहे हैं। मंडी प्रांगण में पांच करोड़ 30 लाख से अधिक के निर्माण कार्यों का लोकार्पण हुआ है, वह प्रशंसनीय है। इस प्रकार के विकास के कार्य निरन्तर चलते रहेंगे। उन्होंने कहा कि 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा गया है। उज्जैन की कृषि मंडी में किसान, व्यापारी, तुलावटी हम्माल, कृषि मंडी के सेवकों के आपसी तालमेल से अच्छे काम हो रहे हैं और सदैव ऐसे ही तालमेल से मंडी का सदैव विकास होता चला जायेगा। ऊर्जा मंत्री श्री जैन ने कहा कि वर्तमान में किसानों को 10 घंटे से अधिक बिजली विद्युत विभाग के द्वारा उपलब्ध करवाई जा रही है।
कृषि महाविद्यालय के लिये जनप्रतिनिधियों की अनुशंसा के साथ सीएम से बात की जायेगी
    उज्जैन-आलोट संसदीय क्षेत्र के सांसद डॉ.चिन्तामणि मालवीय ने अपने उद्बोधन में कहा कि कृषि के क्षेत्र में राज्य सरकार के द्वारा जो काम किये जा रहे हैं, वह तारीफ के काबिल हैं। उन्होंने कृषि मंत्री से दो मांग की। प्रथम मांग उज्जैन जिले की उपजाऊ कृषि भूमि होने के कारण किसानों की खेती और बेहतर एवं वैज्ञानिक ढंग से हो सके, इसके लिये उज्जैन में कृषि महाविद्यालय खोला जाये, ताकि किसानों और अन्य लोगों के बच्चे कृषि महाविद्यालय में पढ़कर कृषि को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी। उन्होंने दूसरी मांग की कि मंडी में तुलावटी हम्माल का मानव अधिकार का हनन न हो, इसके लिये एक क्विंटल के बोरे उठाने के बजाय 50 किलो के बोरे को उठाने के लिये कार्य करवाया जाये। सांसद डॉ.मालवीय की मांग को सहर्ष स्वीकार करते हुए एक क्विंटल के बजाय 50 किलो का बोरा उठाने पर सहमति प्रदान की और कृषि महाविद्यालय के लिये उज्जैन के प्रमुख जनप्रतिनिधियों के साथ वे स्वयं अनुशंसा सहित मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से चर्चा कर कृषि महाविद्यालय उज्जैन में खुलवाने की आगामी कार्यवाही की जायेगी।
नरेश जिनिंग फैक्ट्री की जमीन मिलने पर उसकी बाउंड्री वाल का निर्माण कराने की घोषणा
    कृषि मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन से कृषि उपज मंडी के अध्यक्ष श्री बहादुरसिंह बोरमुंडला ने अवगत कराया कि कृषि उपज मंडी के समीप नरेश जिनिंग फैक्ट्री की पांच हेक्टेयर जमीन मंडी को उपलब्ध करवाई जाये। इस पर श्री बिसेन ने कहा कि जब भी जमीन मंडी को अधिग्रहित हो जायेगी, तब उसकी बाउंड्री वाल मंडी निधि से कराई जाये।
    राज्य सभा सांसद डॉ.सत्यनारायण जटिया ने अपने विचार प्रकट करते हुए कहा कि केन्द्र एवं राज्य सरकार मिलकर किसानों के हित के लिये अनेकों योजनाएं बनाई है, जिससे किसानों को लाभ पहुंचाया जा रहा है। फसल को लाभ का धंधा एवं उनकी आय दोगुनी हो, इसके लिये सरकार निरन्तर प्रयास में है। विधायक तराना श्री अनिल फिरोजिया ने भी सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में पहली बार किसानों से प्याज राज्य सरकार ने खरीदे हैं, वह प्रशंसनीय है। जिला पंचायत के अध्यक्ष श्री महेश परमार ने कहा कि किसानों के हित में जो काम किये जा रहे हैं, वह प्रशंसनीय हैं। उन्होंने कृषि मंत्री से मांग की कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में बीच में प्राकृतिक आपदा से जैसे- कीटनाशक दवाई से फसल खराब होने पर उसको भी योजना में जोड़ा जाये, ताकि किसानों को लाभ मिल सके। इसी प्रकार उन्होंने यह भी मांग की कि कृषि उपज मंडियों में किसानों को आरटीजीएस से भुगतान किया जा रहा है। फसल की उपज का आधा पैसा किसान को नगद मंडी से उपलब्ध कराया जाये, ताकि किसान को राहत मिल सके।
बाढ़कुमेद की विद्या पाटीदार को बम्पर ड्रॉ में खुला ट्रेक्टर
    नर्मदा जयन्ती, बलराम जयन्ती में वर्ष में दो बार ड्रॉ खोला जाता है। बम्पर ड्रॉ में अतिथि के द्वारा पर्ची उठाने पर उज्जैन जिले के ग्राम बाढ़कुमेद निवासी विद्या पाटीदार पिता दिनेश पाटीदार को 35 हॉर्सपावर का ट्रेक्टर ईनाम में मिला। अतिथियों के द्वारा कृषि मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन ने विद्या पाटीदार को गोदी में उठाकर उसके पिता श्री दिनेश पाटीदार को 35 हॉर्सपावर ट्रेक्टर की चाबी सौंपी। इसी तरह नर्मदा जयन्ती में 21 हजार रूपये का ईनाम घट्टिया तहसील के सोडंग मोजीखेड़ी निवासी श्री गोपाल पिता विक्रमसिंह और 21 हजार रूपये का पुरस्कार सोडंग निवासी अन्तरसिंह पिता गिरवरसिंह  को मिला। इसके अलावा 15-15 हजार के दो पुरस्कार, 11-11 हजार के तीन पुरस्कार और पांच-पांच हजार के चार पुरस्कार भी किसानों को उपलब्ध कराये गये।
प्रेस क्लब को 51 हजार रूपये नगद राशि भेंट की
    कृषि मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन ने उज्जैन के प्रेस क्लब को पूर्व में 51 हजार रूपये देने की घोषणा की थी। पूर्व घोषणा अनुसार कृषि मंत्री श्री बिसेन ने प्रेस क्लब के अध्यक्ष श्री विशालसिंह हाड़ा को 51 हजार रूपये की नगद राशि भेंट की। इस अवसर पर प्रेस क्लब के उपाध्यक्ष श्री पुष्करन दुबे और सचिव श्री विक्रमसिंह जाट उपस्थित थे।
5 करोड़ 30 लाख से अधिक के निर्माण कार्य का लोकार्पण
    कृषि मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन एवं ऊर्जा मंत्री श्री पारस जैन सहित अन्य जनप्रतिनिधियों ने उज्जैन कृषि उपज मंडी प्रांगण में एक करोड़ 62 लाख 25 हजार रूपये की लागत से निर्मित प्रशासनिक भवन, मंडी प्रांगण में ही 13 लाख 15 हजार रूपये की लागत से बगीचे का सौंदर्यीकरण, मंडी प्रांगण में ही हाईराइज शेड क्रमांक-1 एवं 2 प्रत्येक शेड एक करोड़ 58 लाख, फल मंडी में 14 लाख 56 हजार रूपये की लागत से निर्मित सम्राट विक्रमादित्य द्वार और मंडी प्रांगण आगर रोड पर बलराम द्वार लागत 14 लाख 56 हजार रूपये की लागत के निर्माण कार्यों का लोकार्पण किया। इसी तरह अतिथियों ने फाजलपुरा रोड पर पं.दीनदयाल उपाध्याय द्वार का शिलान्यास भी किया। इस द्वार की लागत नौ लाख 80 हजार रूपये रहेगी।
    इस अवसर पर उज्जैन नगर पालिक निगम की महापौर श्रीमती मीना जोनवाल, जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक के अध्यक्ष श्री किशनसिंह भटोल, यूडीए अध्यक्ष श्री जगदीश अग्रवाल, कृषि उपज मंडी के उपाध्यक्ष श्री शेरअली पटेल, कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे, मंडी सचिव श्री राजेश गोयल, व्यापारी सदस्य श्री मुकेश हरभजनका, हम्माल तुलावटी सदस्य श्री कन्हैयालाल मीणा सहित कृषि उपज मंडी के सदस्यगण, किसान आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन श्री शोभाराम मालवीय ने किया। अन्त में आभार उप संचालक मंडी बोर्ड श्री एनके त्रिपाठी ने प्रकट किया।   
(26 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2017अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
2526272829301
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer