समाचार
|| महिला सशक्तिकरण की सार्थक पहल "तेजस्विनी" - सुरेश गुप्ता || महिला सशक्तिकरण की सार्थक पहल "तेजस्विनी" - सुरेश गुप्ता || श्री सोनी ने प्रशासक का पदभार ग्रहण किया || स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार 2017-18 || कार्तिक माह में भगवान महाकाल की पहली सवारी धूमधाम से निकली || राज्य योजना आयोग द्वारा ‘आऊटपुट’ एवं ‘आऊटकम’ का विश्लेषण किया जायेगा || राजनैतिक दलो के समक्ष व्ही.व्ही.पी.ए.टी. मशीन का प्रदर्शन || जनप्रतिनिधि लघु योजनाओं को प्रभावी ढंग से बनवायें || श्री सोनी प्रशासक नियुक्त || सोमवार को 11 पंचायतों के 14 मतदान केन्द्रों मे हुआ व्ही.व्ही.पी.ए.टी. मशीन का प्रदर्शन
अन्य ख़बरें
श्रावण के अंतिम सोमवार को राजाधिराज भगवान महाकाल नगर भ्रमण पर निकले
भगवान महाकाल ने भक्तों को पांच रूपों में दर्शन दिये
उज्जैन | 07-अगस्त-2017
 
   
   राजाधिराज भगवान महाकाल श्रावण माह के अंतिम पांचवे सोमवार को अपनी प्रजा को दर्शन देने के लिए नगर भ्रमण पर निकले। भगवान महाकाल ने अपनी प्रजा को पांचवी सवारी में पांच रूपों में दर्शन दिये। सवारी निकलने के पूर्व श्री महाकालेश्वर मंदिर के सभामंडप में भगवान महाकाल का पूजन-अर्चन करने के बाद निर्धारित समय से भगवान महाकाल की पालकी को नगर भ्रमण के लिये रवाना किया गया। सभामंडप में पूजा-अर्चना के अवसर पर विधायक डॉ.मोहन यादव, म.प्र.जनअभियान परिषद के उपाध्यक्ष श्री प्रदीप पाण्डे, जिला पंचायत के अध्यक्ष श्री महेश परमार, गृह विभाग के सचिव श्री केदार शर्मा, डीआईजी डॉ.रमणसिंह सिकरवार, कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे, पुलिस अधीक्षक श्री सचिन अतुलकर आदि उपस्थित थे।
   पांचवी सवारी में रजतजडित पालकी में भगवान श्री चन्द्रमौलेश्वर विराजित थे और पालकी के पीछे हाथी पर श्री मनमहेश, गरूड़ रथ पर श्री शिव तांडव की प्रतिमा और नंदी रथ पर श्री उमामहेश, तथा डोल रथ पर होल्कर स्टेट का मुखौटा विराजित था। इस प्रकार पांचवी सवारी में भगवान महाकाल ने पांच रूपों में अपने भक्तों को दर्शन दिये। भगवान श्री महाकाल की अब छटवी सवारी भादौ मास में सोमवार 14 अगस्त को निकलेगी तथा अंतिम शाही सवारी सोमवार 21 अगस्त को नगर भ्रमण पर राजसी ठाट-बाट के साथ निकलेगी।
   महाकाल मंदिर से जैसे ही पालकी मंदिर के मुख्य द्वार पर पहुंची वैसे ही सशस्त्र पुलिस बल के जवानों के द्वारा सलामी दी गई। पालकी के आगे घुडसवार दल, सशस्त्र पुलिस बल के जवान आदि की टुकड़ियां मार्च पास्ट करते हुए चल रही थीं। राजाधिराज भगवान महाकाल की सवारी में हजारों भक्त भगवान शिव का गुणगान करते हुए तथा विभिन्न भजन मंडलियां झांझ-मंजीरे, डमरू बजाते हुए चल रहे थे। सवारी मार्ग के दोनों ओर हजारों श्रद्धालु पालकी में विराजित भगवान चन्द्रमौलेश्वर के दर्शन के लिए खड़े थे। जैसे ही पालकी उनके सामने से निकली वैसे ही भगवान के गुणगान एवं पुष्प वर्षा करते हुए श्रद्धालुओं ने भगवान जयकारा किया। श्री महाकालेश्वर भगवान की सवारी महाकाल मंदिर से गुदरी चौराहा, बक्षी बाजार, कहारवाडी होते हुए रामघाट पहुंची, जहां शिप्रा के जल से भगवान महाकाल का अभिषेक कर पूजा-अर्चना की गई। रामघाट पर पूजा-अर्चना के बाद सवारी अपने निर्धारित मार्ग से होते हुए पुनः महाकाल मंदिर को रवाना हुई। सवारी के साथ विधायक डॉ.मोहन यादव, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री महेश परमार, जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्री भरत पोरवाल, जिला पंचायत सदस्य श्री करण कुमारिया सहित जन प्रतिनिधि, समाजसेवी, धर्मपरायण जनता चल रहे थे और भगवान महाकाल के गुणगान करते हुए शिवमय हो रहे थे।
   कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे एवं पुलिस अधीक्षक श्री सचिन अतुलकर सवारी मार्ग में व्यवस्थाओं पर पूर्ण रूप से निगरानी रख रहे थे और अपने मातहत अधिकारियों को व्यवस्थाओं के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश भी साथ में दे रहे थे। भगवान महाकाल की पांचवी सवारी में जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन की शानदार व्यवस्था की श्रद्धालुओं के द्वारा भूरि-भूरि प्रशंसा की गई।
(77 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
सितम्बरअक्तूबर 2017नवम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2526272829301
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
303112345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer