समाचार
|| महिला सशक्तिकरण की सार्थक पहल "तेजस्विनी" - सुरेश गुप्ता || महिला सशक्तिकरण की सार्थक पहल "तेजस्विनी" - सुरेश गुप्ता || श्री सोनी ने प्रशासक का पदभार ग्रहण किया || स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार 2017-18 || कार्तिक माह में भगवान महाकाल की पहली सवारी धूमधाम से निकली || राज्य योजना आयोग द्वारा ‘आऊटपुट’ एवं ‘आऊटकम’ का विश्लेषण किया जायेगा || राजनैतिक दलो के समक्ष व्ही.व्ही.पी.ए.टी. मशीन का प्रदर्शन || जनप्रतिनिधि लघु योजनाओं को प्रभावी ढंग से बनवायें || श्री सोनी प्रशासक नियुक्त || सोमवार को 11 पंचायतों के 14 मतदान केन्द्रों मे हुआ व्ही.व्ही.पी.ए.टी. मशीन का प्रदर्शन
अन्य ख़बरें
अशोकनगर जिला शीघ्र ही खुले में शौच मुक्‍त होगा- कलेक्‍टर
-
अशोकनगर | 31-जुलाई-2017
 
      
  अशोकनगर जिला 45 दिन में खुले में शौच मुक्‍त किये जाने की दिशा में अभी से सार्थक प्रयास किये जाने चाहिए। उन्‍होंने यह बात सोमवार को कलेक्‍ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित सामुदायिक दृष्टिकोण से सम्‍पूर्ण स्‍वच्‍छता के बारे में जिला एंव खण्‍ड स्‍तरीय कार्यकर्ताओं के लिए आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला के अवसर पर कहीं। कार्यशाला में अपर कलेक्‍टर एवं प्रभारी मुख्‍य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री ए.के.चांदिल, भोपाल से पधारे फीडबैक फाउन्‍डेशन के श्री ज्‍योति प्रकाश, श्री पलास सारंग, राज्‍य स्‍तरीय स्‍वच्‍छता विशेषज्ञ श्री दिनेश देशराजन, जिला समन्‍वयक स्‍वच्‍छ भारत अभियान श्रीमति सरिता बंसल, समस्‍त एस.डी.एम., सी.ई.ओ. जनपद, सी.एम.ओ, प्रेरक, पी.सी.ओं, जनप्रतिनिधि एवं संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।
         कार्यशाला में कलेक्‍टर श्री जामोद ने जिले के दस स्‍वच्‍छता प्रेरकों का सम्‍मान करते हुए प्रमाण पत्र तथा स्‍वच्‍छता किट का वितरण किया। उन्‍होंने कहा कि स्‍वच्‍छ भारत अभियान के तहत समग्र स्‍वच्‍छता के क्षेत्र में आज से परिदृश्‍य परिवर्तित होना चाहिए। जिले को खुले में शौच मुक्‍त करने के लिए अभी से प्राणप्रय होकर लग जाना चाहिए। हमारे जिले को शीघ्र ही खुले में शौच मुक्‍त घोषित कराने के‍लिए एक वर्ष से लगातार कार्य किये जा रहे है। इस कार्य में जनप्रतिनिधियों, अधिकारियो, कर्मचारियों, मीडिया कर्मियों सहित समाजसेवियों तथा जिद्दी गैंग के सदस्‍यों की भूमिका काफी सराहनीय रही। स्‍वच्‍छता के लिए सौपें गये दायित्‍वों का निर्वहन सभी अधिकारियों ने पूर्ण निष्‍ठा के साथ किया है।
       कार्यशाला में ज्‍योति प्रकाश ने कहा कि जिले को खुले में शौच मुक्‍त करने के लिए कलेक्‍टर ने जो बीड़ा उठाया है। उस लक्ष्‍य को प्राप्‍त करने के लिए आंदोलन का रूप देना होगा।  उन्‍होंने शौचमुक्ति हेतु व्‍यवहार परिवर्तन, अभियान में सभी को जोडकर आहूती देना, स्‍वच्‍छता कार्यक्रम को अपना कार्यक्रम समझना, कार्यक्रम समझने के संबंध में विस्‍तार से प्रोजेक्‍टर के माध्‍यम से समझाया।
        श्री पलास सारंग ने खुले में शौच मुक्‍त की आजादी, सामुदायिक अभिप्रेरणा, स्‍वच्‍छता सुविधाओं की सर्वव्‍यापी उपलब्‍धता, सामुदायिक व्‍यहावर परिवर्तन, सही तकनीक से शौचालय का निर्माण, ओडीएफ के लिए प्रस्‍तावित मानव संसाधन का ढांचा, हितग्राही के खाते में सीधे भुगतान की प्रक्रिया के बारे में विस्‍तार से जानकारी दी।
       कार्यशाला में स्‍वच्‍छता विशेषज्ञ श्री दिनेश देशराजन द्वारा प्रोजेक्‍टर के माध्‍यम से शौचालय का पुजारी लघु फिल्‍म का प्रदर्शन कर स्‍वच्‍छता का संदेश उपस्थितजनों को दिया गया।
(84 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
सितम्बरअक्तूबर 2017नवम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2526272829301
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
303112345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer