समाचार
|| मतदान केन्‍द्रों के दस्‍तावेजों की संवीक्षा सम्‍पन्‍न || कक्षा 8वीं की 28 फरवरी से एवं 5वीं की स्वाध्यायी परीक्षाएं 15 मार्च से प्रारंभ || श्रवणबेलगोला तीर्थ दर्शन यात्रा 27 फरवरी को || बोर्ड परीक्षाओं में केन्द्राध्यक्ष के अधिकार || पिछड़ा वर्ग पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति आवेदन पत्रों की ऑनलाईन स्वीकृति की तिथि 31 मार्च || किसानों के पंजीयन तथा सत्यापन की अंतिम तिथि 28 फरवरी || दीनदयाल अन्त्योदय योजना में मार्च का खाद्यान आवंटित || हज-2018 में पदों के लिए दस्तावेज 5 मार्च तक जमा होंगे || गर्भवती महिलाओं को मिलेगी प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना से सहायता || मार्च में ग्राम पंचायतों में चलेगा जल अभिषेक अभियान
अन्य ख़बरें
जैतवारा नगर परिषद अध्यक्ष के निर्वाचन मे करे मोबाईल एप का उपयोग
-
सतना | 17-जुलाई-2017
 
    कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी नरेश पाल ने राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार नगरीय निकायो के आम निर्वाचन उप निर्वाचन मे मतदाताओ की सुविधा के लिये तैयार किये गये मोबाईल एप का उपयोग अधिकाधिक रूप से कराने के लिये रिटर्निंग आफीसर एवं नगर पालिका अधिकारी को क्षेत्र मे ब्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित करने के निर्देश दिये है।
    म.प्र. राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा प्रदेश के अनुसूचित क्षेत्रो मे आयोजित नगरीय निकायो के होने जा रहे आम निर्वाचन और उप निर्वाचन 2017 में मतदाताओ की सुविधा के लिये एक मोबाईल एप तैयार किया गया है जिसे आयोग की बेबसाईट पर जाकर डाउनलोड किया जा सकता है। इस मोबाईल एप के मुख्य फीचर्स मे मतदाता अपना स्वयं का नाम फोटोयुक्त मतदाता सूची में ढूढ सकता है। मतदाता अपने मतदान केन्द्र की लोकेशन और उसका गूगल मैप पर डायरेक्षन भी प्राप्त कर सकता है। इसके अलावा मतदाता स्वयं की वोटर स्लिप को जनरेट कर इसका उपयोग मतदान के समय पहचान दस्तावेज के रूप मे कर सकेगा। मोबाईल एप के माध्यम से अभ्यर्थियो की जानकारी और निर्वाचन परिणाम भी प्राप्त किये जा सकते है। इस मोबाईल एप का उपयोग नगरीय निकायो के आम निर्वाचन 2016 में नगर पालिका परिषद हरदा माण्डू जिला धार और अमरकंटक के चुनावो मे मतदाताओ द्वारा किया जा चुका है।
    आयोग के निर्णय अनुसार यदि कोई मतदाता इस मोबाईल एप के जरिये अपने वोटर स्लिप को मोबाईल फोन पर डाउनलोड कर मतदान करने के लिये पहचान के रूप मे दिखाता है तो मतदान केन्द्र के पीठासीन और मतदान अधिकारी पहचान हो जाने के बाद मतदाता को उसके मोबाईल फोन के एवज मे एक नम्बर युक्त टोकन देगें तथा मोबाईल फोन को उसी नम्बर के डले टोकन की एक प्रति के साथ छोटे प्लास्टिक की डलिया मे अपने पास रखेगें। मतदान करने के बाद दूसरे छोर पर जब मतदाता बाहर जाने लगेगा तो उससे दिया गया टोकन वापस लेकर संबंधित डलिया से मोबाईल उपकरण निकालकर वापस किया जायेगा। मतदाता से प्राप्त टोकन और डलिया मे रखे टोकन को साथ मे मिलाकर उसे उपयोग के लिये हाथो हाथ पीठासीन अधिकारी तक पहुँचाया जायेगा। राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा मोबाईल एप के प्रयोग और आवश्यक प्रक्रिया की जानकारी से पीठासीन अधिकारियो और सेक्टर अधिकारियो को भी प्रशिक्षित करने के निर्देश दिये गये है।
(223 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2018मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2930311234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627281234
567891011

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer