समाचार
|| आर्थिक मदद जारी || हिट एण्ड रन के एक प्रकरण में आर्थिक मदद जारी || ऑन लाइन आवेदन भरने की प्रक्रिया से अवगत कराने हेतु प्रशिक्षण आयोजित || डाटाबेस में सही प्रविष्टियां के आश्य का प्रमाण पत्र जमा कराएं || पटवारी राजस्व विभाग की रीढ़ || कलेक्टर हुए रू-ब-रू || केन्द्रीय मंत्रियों और मुख्यमंत्री के मुरैना प्रस्तावित आयोजन की तैयारी को लेकर बैठक सम्पन्न || लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री रूस्तम सिंह मुरैना में || बोर्ड परीक्षा व्यवस्थाओं को लेकर शिक्षा मण्डल के अध्यक्ष श्री मोहन्ती आज समीक्षा करेंगें || जबलपुर में 24 फरवरी को असंगठित श्रमिकों का सम्मेलन
अन्य ख़बरें
वीरांगना लक्ष्मीबाई बलिदान मेले का भव्य समापन
स्वतंत्रता वीर सावरकर के परिजन सत्यकी “क्रांतिवीर परिजन सम्मान” से सम्मानित, “वीरांगना सम्मान-2017” से सुश्री गुंजन सक्सेना सम्मानित
ग्वालियर | 18-जून-2017
 
    वीरांगना लक्ष्मीबाई बलिदान मेला आयोजन समिति द्वारा इस वर्ष का क्रांतिवीर परिजन सम्मान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी वीर सावरकर के परिजन सत्यकी सावरकर को दिया तथा देश की प्रथम महिला पायलट कारगिल युद्ध के दौरान अदम्य साहस के लिये शौर्य चक्र से सम्मानित सुश्री गुंजन सक्सेना को “वीरांगना सम्मान-2017” से सम्मानित किया गया है। यह सम्मान हरियाणा के राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी के कर कमलों द्वारा प्रदान किए गए।
    कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राज्यपाल प्रो. सोलंकी ने कहा कि लक्ष्मीबाई बलिदान मेले ने ग्वालियर को एक नई पहचान दी है। इस आयोजन से ग्वालियर गौरान्वित हुआ है। उन्होने कार्यक्रम के भव्य और गरिमापूर्ण आयोजन के लिये श्री जयभान सिंह पवैया की प्रशंसा की और कहा कि उनके इस कार्य से ग्वालियरवासियों को 1857 की क्रांति की महानायिका वीरांगना लक्ष्मीबाई के प्रति समारोहपूर्वक श्रृद्धा-सुमन अर्पित करने का अवसर प्राप्त हुआ है।
    बलिदान मेला आयोजन समिति के संस्थापक अध्यक्ष और उच्च शिक्षा मंत्री श्री जयभान सिंह पवैया ने कहा है कि उनके द्वारा प्रो. सोलंकी की प्रेरणा से सन् 2000 से यह आयोजन प्रारंभ किया गया है। इस आयोजन के माध्यम से हम उन सब शहीदों को जिन्होंने अपने प्राणों की आहूति इस राष्ट्र की रक्षा और निर्माण के लिये दे दी है, उनके प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करते हैं। उन्होंने कार्यक्रम के आयोजन में ग्वालियर शहरवासियों की सक्रिय भागीदारी पर भी हर्ष और आभार व्यक्त किया।
   इससे पूर्व समारोह में वीरांगना अवार्ड और क्रांतिवीर परिजन सम्मान तथा देश की सीमा पर शहीदों के परिजनों को भी सम्मानित किया गया।
   इस अवसर पर वीरांगना लक्ष्मीबाई बलिदान मेला आयोजन समिति के संयोजक तथा प्रदेश के उच्च शिक्षा व लोक सेवा प्रबंधन मंत्री श्री जयभान सिंह पवैया, स्वास्थ्य मंत्री श्री रूस्तम सिंह, महापौर श्री विवेक नारायण शेजवलकर, विधायक श्री नारायण सिंह कुशवाह व श्री घनश्याम पिरौनिया, आध्यात्मिक गुरू दंदरौआ महाराज रामदासजी, संत कृपालजी सहित अन्य गणमान्य नागरिक, शहीदों के परिजन और प्रशासनिक अधिकारियों के रूप में संभाग आयुक्त श्री एस एन रूपला, आईजी श्री अनिल कुमार, कलेक्टर डॉ. संजय गोयल, पुलिस अधीक्षक डॉ. आशीष उपस्थित थे।
“क्रांति की ज्वाला” महानाट्य व अखिल भारतीय कवि सम्मेलन भी हुआ  
   इस गरिमापूर्ण कार्यक्रम में जीवित घोड़े, ऊंटों के साथ "क्रांति की ज्वाला" नामक महानाट्य की प्रस्तुति दी गई। जिसे दर्शकों द्वारा बेहद सराहा गया। वीरांगना लक्ष्मीबाई पर केन्द्रित इस महानाट्य में 110 कलाकारों ने भाग लिया।
अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन
   इसके बाद अखिल भारतीय कवि सम्मेलन हुआ। जिसमें ओज के शीर्षस्थ कवि हरिओम पवार (मेरठ), विनीत चौहान (अलवर), सुरेश अवस्थी (कानपुर), प्रवीण शुक्ला (दिल्ली), कुंवर जावेद (कोटा), रूचि चतुर्वेदी (आगरा), कमलेश शर्मा (इटावा), सुदीप भोला (जबलपुर), पार्थ नवीन (चित्तौड) काव्यांजलि दी।
 
(249 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2018मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2930311234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627281234
567891011

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer