समाचार
|| राजस्व अधिकारियों की बैठक संपन्न || प्रधानमंत्री आवास योजना में अच्छा कार्य करने वाली ग्राम पंचायतों को मिला सम्मान || जनसुनवाई में आये 95 आवेदन || एकात्म यात्रा की तैयारियों की समीक्षा हेतु बैठक संपन्न || जिला स्तरीय खनिज टास्क फोर्स की बैठक संपन्न || दिव्यांग परिचय सम्मेलन आज धनौरा में || झूठा शपथ पत्र प्रस्तुत करने पर साहूकारी लाइसेन्स निरस्त || 60 दिवस से अधिक के कोई भी प्रकरण पुलिस विवेचना में लंबित न रहें - कलेक्टर || जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आज || महिला एवं बाल कल्याण स्थायी समिति की बैठक 20 दिसम्बर को
अन्य ख़बरें
गांव व खेती के किसानी के विकास के लिए सबको आगे आना होगा - कमिश्नर श्री ओझा
आर्थिक स्वावलंबन के लिए किसान इस अभियान का अधिकाधिक लाभ उठायें- कमिश्नर श्री ओझा, ग्रामोदय से भारत उदय अभियान और कृषि महोत्सव के अंतर्गत गुराडिया प्रताप गांव में हुई, ग्राम/कृषि संसद में शामिल हुये कमिश्नर श्री ओझा
उज्जैन | 21-अप्रैल-2017
 
   
  
   गांव हो या खेती किसानी, इनके विकास के लिए हम सबको मिल जुलकर आगे आना ही होगा। एक और एक मिलकर ग्यारह बनें, तो विकास की बात बनें। गांव और गरीबों के विकास तथा किसानों को खेती किसानी की नई-नई तकनीकों के बारे में जानकारियां देने के लिए राज्य सरकार द्वारा ग्रामोदय से भारत उदय अभियान और कृषि महोत्सव आयोजित किया जा रहा है। अपने जीवन स्तर में सुधार लाने और आर्थिक स्वावलबंन के लिए ग्रामीणजन और किसान भाई इस अभियान/कृषि महोत्सव का अधिकाधिक लाभ उठायें। कमिश्नर (उज्जैन राजस्व संभाग) श्री मधुरेश बाबु ओझा ने आज इस आशय की बात कही। कमिश्नर श्री ओझा आज शाम सीतामउ विकासखण्ड क्षेत्र के गुराडिया प्रताप गांव में हुई ग्राम/कृषि संसद में ग्रामीणों को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर सुवासरा विधायक श्री हरदीपसिंह डंग, सुवासरा के पूर्व विधायक श्री राधेश्याम पाटीदार, क्षेत्रीय जिला पंचायत सदस्य श्री निहालचन्द मालवीय, प्रभारी कलेक्टर श्री अर्जुनसिंह डाबर, सीईओ जिला पंचायत श्रीमती रानी बाटड, संयुक्त संचालक कृषि उज्जैन श्री डीके पाण्डेय, ग्राम सरपंच व उप सरपंच एवं जिले के समस्त जिलाधिकारी, नोडल अधिकारी तथा बडी संख्या में ग्रामीणजन एवं महिलाएं उपस्थित थी। इस अवसर पर कमिश्नर श्री ओझा ने गांव की एक निशक्त बालिका को मौके पर ही निःशक्त पेशन मंजूर करने के आदेश दियें। उन्होने कहा कि गांव में परफारमेंस ग्रांट से विकास कार्य कराये जायेंगे। जिन किसानों को जरूरत है, उनके खेतों में कपिलधारा योजना के तहत कूप बनवाये जायेंगे। उन्होने किसानों भाईयो से कहा कि अपनी खेती की लागत कम करने लिए उन्हें रासायनिक खाद के बदले जैविक खाद का अधिकाधिक इस्तेमाल करना चाहिये। ग्रामीणों व जनप्रतिनिधियों की मांग पर गांव के बाहर स्थित (परन्तु फिल्हाल बंद पडे) रेल्वे फाटक को खुलवाने या उस स्थान पर अंडरब्रिज बनवाने के लिए राज्य शासन एवं रेल्वे प्रशासन के साथ मिलकर प्रयास करने का आश्वासन दिया।
   ग्रामोदय से भारत उदय अभियान एवं कृषि महोत्सव के अन्तर्गत हुई इस ग्राम/कृषि संसद में कमिश्नर श्री ओझा ने कहा कि ग्राम सभाओं को और अधिक बेहतर तरीके से आयोजित किया जाये। मैदानी अमला ग्रामीणों से सीधा संवाद स्थापित करे। गांव के आम आदमी से गांव की समस्याओं के बारे में चर्चा करें और उनके निराकरण का प्रस्ताव गांव के विकास के लिए बनाई जा रही ग्राम पंचायत विकास कार्ययोजना (जीपीडीपी) में शामिल किया जाये। ग्राम/कृषि संसद में ग्रामीणों और महिलाओं की उपस्थिति अधिक से अधिक हो, यह सुनिश्चित किया जाये। श्री ओझा ने कहा कि राज्य सरकार की मंशा के मुताबिक किसानों की आय दुगुना करने के लिए तैयार किये गये रोडमेप के आधार पर किसानों को फसल चक्र परिवर्तन और नकद फसल उत्पादन के साथ-साथ दुधारू पशु पालकर दुग्धोत्पादन कर अतिरिक्त आय प्राप्त करने के लिए हर जरूरी मार्गदर्शन और शासकीय मदद मुहैया कराई जाये। हर गांव के विकास के लिए अच्छी से अच्छी कार्ययोजना बनाई जायें। उन्होने कहा कि ग्राम पंचायत को मिलने वाली विकास निधि की राशि से ग्रामीणों की सहमति से हर गांव को स्वच्छ और सुन्दर तथा खुले में शौच से पूर्णतः मुक्त (टोटल ओडीएफ) बनाने के लिए हरसंभव कार्य, प्रयास और नवाचार किये जायें। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत वर्ष 2022 तक प्रदेश के हर किसान के, हर खेत तक पानी पहुंचाने के लिए कटिबद्व प्रयास किये जायें। बैठक में कमिश्नर श्री ओझा ने ग्रामोदय से भारत उदय अभियान के सभी नोडल अधिकारियों तथा कृषि महोत्सव के संबंध में किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के अधिकारियों एवं मैदानी अमले से सीधी चर्चा की एवं सभी से अबतक का फीडबैक लिया।
   सुवासरा विधायक श्री डंग ने कहा कि सबका एक मात्र उद्देश्य गांव का विकास करना है। ग्रामीणों का जीवन संवारने के लिए हम सब मिलकर प्रयास करेंगे। उन्होने कहा कि गुराडिया प्रताप से पारदीखेडा के बीच आवागमन हेतु पक्की पुलिया बनाई जायेगी। इस गांव के अधिकाधिक जरूरतमंदों के लिए प्रधानमंत्री/मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत पक्के मकान बनाये जायेंगे।
   सुवासरा के पूर्व विधायक श्री पाटीदार ने इस अवसर पर कहा कि यह गांव बेहद ही प्रगतिशील है। यहां के किसान जैविक खाद उत्पादित करते हैं और देश के कई अंचलों तक पहुंचाते है। यहां के किसान अपनी जैविक खाद विदेशों को निर्यात करने का माद्दा रखतें है। उन्होने गुराडिया प्रताप गांव की कुड समस्याओं से कमिश्नर श्री ओझा को अवगत कराते हुये कहा कि प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत आवास बनवाने में ग्राम सरपंच को कुछ तकनीकी एवं नियमगत समस्याएं आ रही हैं। अतः इस योजना के नियमों को और सरल करने के प्रयास होने चाहिये।
   क्षेत्रीय जिला पंचायत सदस्य श्री मालवीय ने कहा कि ग्रामीणों को सरकार के इस महत्वपूर्ण ग्रामोदय से भारत उदय अभियान और कृषि महोत्सव अभियान का भरपूर लाभ उठाना चाहिये। उन्होने कहा कि अगले पांच सालों के भीतर देश के हर ग्रामीण के पास उसका अपना पक्का मकान होगा। ग्राम/कृषि संसद को अन्य वक्ताओं ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम का संचालन प्रभारी उप संचालक सामाजिक न्याय डा. जेके जैन ने किया।
(235 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
नवम्बरदिसम्बर 2017जनवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
27282930123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer