समाचार
|| मुख्यमंत्री का डुमना आगमन आज || आदि शंकराचार्य ने मध्यप्रदेश की भूमि से दिया सांस्कृतिक एकता का संदेश - शिवराज सिंह चौहान "ब्लॉग " || ग्रीष्मकालीन खेल प्रशिक्षण शिविर आज से || आदि गुरू शंकराचार्य जी की प्राकट्य पंचमी पर दौड़ आज प्रातः 6 बजे || आदि शंकराचार्य ने मध्यप्रदेश की भूमि से दिया सांस्कृतिक एकता का संदेश - शिवराज सिंह चौहान "ब्लॉग" || जननी सेवा के लिए 16 एम्बुलेंस को कलेक्टर ने दिखाई हरी झंडी || मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान 1 मई को शाहपुर आयेंगे || माँ नर्मदा की कृपा से लगातार मिल रहा है कृषि कर्मण अवार्ड - मुख्यमंत्री श्री शिवराज चौहान || आदि शंकराचार्य प्राकट्योत्सव पर आज गरिमामय आयोजन || आदि गुरू शंकराचार्य की प्राकट्य पंचमी पर आयोजित दौड़ और संगोष्ठी में शामिल होने कलेक्टर ने नागरिकों से की अपील
अन्य ख़बरें
चमत्कारों से भरी है नर्मदा सेवा यात्रा- मंत्री श्री गौरीशंकर शेजवार
नर्मदा सेवा के यात्रा के प्रभारी श्री शेजवार ने देवास पहुंचकर की समीक्षा
देवास | 17-फरवरी-2017
   नर्मदा सेवा यात्रा चमत्कारों से भरी है। सर्वधर्म समभाव के अनोखे नजारे यहां देखने को मिल रहे हैं। संत समाज भी पर्यावरण संरक्षण के लिए चिंतित हैं। नर्मदा सेवा यात्रा नदी संरक्षण के दिशा में देश की बड़ी मुहिम बन गई है। वन मंत्री श्री गौरीशंकर शेजवार ने आज देवास में यह बात कही। उन्होंने देवास पहुंचकर जिले में नर्मदा सेवा यात्रा की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने नर्मदा सेवा यात्रा के कुछ मनोहारी वृतांत भी सुनाए। बैठक में देवास जिले के प्रभारी मंत्री श्री सुरेंद्र पटवा, स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री श्री दीपक जोशी, सांसद श्री मनोहर ऊंटवाल, विधायकगण सर्वश्री राजेंद्र वर्मा, आशीष शर्मा, श्रीमती गायत्रीराजे पवार और चंपालाल देवड़ा, जिला पंचायत अध्यक्ष नरेंद्रसिंह राजपूत, पाठ्य पुस्तक निगम के अध्यक्ष रायसिंह सेंधव सहित अन्य जनप्रतिनिधि विभिन्न उद्योगों के प्रतिनिधि, नर्मदा सेवा समितियों के सदस्यगण, जिला अधिकारी तथा समाज सेवी उपस्थित थे।  
समाज की सहभागिता से आगे बढ़ रही है यात्रा
   वन मंत्री श्री शेजवार ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा से बड़ी संख्या में आमजन जुड़ रहे हैं। आमजनों के साथ-साथ विभिन्न धर्मों के लोग लोगों की भी सहभागिता यात्रा में है। अनेक जगह अद्भुत नजारे देखने को मिले हैं। वहीं अन्य समुदाय के प्रमुख, मुस्लिम समाज की महिलाएं और इसाई पादरियों ने भी यात्रा में सहभागिता की है। यात्रा से मां नर्मदा की धारा को अविरल बनाए रखने में सभी की चिंता दिखाई देने लगी है। उन्होंने बताया कि अब तो व्यास गादी से भी संतों द्वारा नर्मदा संरक्षण और इसे प्रदूषण मुक्त रखने के संकल्प दिलाया जा रहे हैं।
तैयारियों की सराहना की
   वन मंत्री श्री शेजवार ने बैठक की समूची तैयारियों की जानकारी लेने के बाद कहा कि उन्होंने अनेक जिलों में ऐसी बैठक ली है, परंतु देवास में जनप्रतिनिधियों और साथ सरकारी तंत्र का अनूठा समन्वय दिखाई दे रहा है। यहां की तैयारियों के लिए उन्होंने सराहना की। श्री शेजवार ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा बहुउद्देशीय होकर परिणाम जनक यात्रा बन गई है। इसके प्रारंभ होने के साथ ही परिणाम भी आने लगे हैं। इतनी बड़ी संख्या में गांव और दूरी तय करने से यात्रा विश्व की एक अनोखी नदी संरक्षण यात्रा बन गई है। इस यात्रा में धार्मिक महत्व के साथ-साथ वैज्ञानिक दृष्टिकोण और सामाजिक पहलू भी निहित है। वनमंत्री श्री गौरीशंकर शेजवार ने जिले में नर्मदा सेवा यात्रा की तैयारियों पर संतोष जताया। बैठक के प्रारंभ में कलेक्टर आशुतोष अवस्थी ने उन्हें सिलसिलेवार तैयारियों की जानकारी दी। बैठक का प्रारंभ नर्मदा अष्टक से हुआ सभी अतिथियों का सूत की माला और श्रीफल देकर स्वागत किया गया।
अवरिल धारा बनाए रखने के लिए आमजन से किया आह्वान
   श्री शेजवार ने नर्मदा जल की शुद्धता और धारा अविरल बनाए रखने के लिए आम जनता से जागरूकता का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यजनक है कि कई जगह नदी के जल में मछली से ज्यादा पॉलिथीन हो गई हैं। हम सब इसे समझें और रोकें। नदी में बोरो से भरकर हवन सामग्री सहित और पूजन सामग्री प्रवाहित कर दी जाती है। हम नर्मदा सेवा यात्रा को तभी सार्थक बनाएंगे जब नदी में ऐसी सामग्री को प्रवाहित नहीं करते हुए, इसमें से मालाएं और पॉलिथीन जल से बाहर निकालेंगे।
अपने प्रताप से दूसरी नदियों को जीवन देगी मां नर्मदा
   मंत्री श्री शेजवार ने कहा कि नर्मदा पुराण में यह उल्लेख है कि अपने प्रताप से मां नर्मदा दूसरी नदियों को जीवन देगी। यह तथ्य अभी हाल की यात्रा के एक पड़ाव में संत ने संस्कृत के श्लोकों के साथ जन समुदाय को बताया था। मंत्री श्री शेजवार ने कहा कि मां नर्मदा का जल शिप्रा में समाहित कर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने इस अवधारणा को व्यवहारिक रुप देने का सौभाग्य और अवसर पाया है।
नर्मदा की महिमा अपरंपार है
   मंत्री श्री शेजवार ने कहा कि मां नर्मदा की महिमा अपरंपार है। हमारा दायित्व बनता है कि हम कृतज्ञ भाव से मां नर्मदा की सेवा करें। यह सेवा सच्चे अर्थों में नदी के दोनों ओर हरियाली बढ़ाने, वृक्षारोपण और नर्मदा को प्रदूषण मुक्त रखते हुए धारा को अविरल बनाए रखना है।
यात्रा से बड़े लोग भी जुड़ रहे हैं
   जिले के प्रभारी मंत्री श्री सुरेंद्र पटवा ने अपने उद्बोधन में कहा कि इस यात्रा से दलाई लामा, लता मंगेशकर, अमिताभ बच्चन जैसे बड़े लोग भी जुड़ रहे हैं। उन्होंने इस यात्रा की सराहना की है। श्री पटवा ने उप यात्राओं के माध्यम से भी उन क्षेत्र के लोगों से नर्मदा यात्रा से जुड़ने का आह्वान किया जो नदी तट से दूरी पर स्थित हैं।
धातुदान का किया आह्वान
   स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री श्री दीपक जोशी ने कहा कि उन्हें सनावद से ओम्कारेश्वर तक नर्मदा यात्रा में शामिल होने का सौभाग्य मिला है। उन्होंने कहा कि ओंकारेश्वर में आदिगुरु शंकराचार्य की विशाल धातु की प्रतिमा स्थापित की जाएगी । इसके लिए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभी जनों से धातु दान का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि मां नर्मदा के अवदान से देवास भी कृतज्ञ है। नर्मदा क्षिप्रा लिंक के कारण देवास शहर को भरपूर पानी मिला है।
उपयात्राओं की विस्तृत जानकारी दी
   पाठ्य पुस्तक निगम के अध्यक्ष और देवास जिले में नर्मदा सेवा यात्रा के प्रभारी श्री रायसिंह सेंधव ने भी बैठक में उप यात्राओं की विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कहा कि उप यात्राओं के माध्यम से समूचे जिले को यात्रा से जुड़ने का सौभाग्य मिलेगा। बैठक में नर्मदा सेवा समितियों के सदस्यों सहित सर्व श्री राजेश यादव, नंदकिशोर पाटीदार और धीरज गुप्ता ने उपयोगी सुझाव दिए।
 
(72 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मार्चअप्रैल 2017मई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer