समाचार
|| एक दीया प्रदेश के विकास के लिए भी जलाएं-मुख्यमंत्री श्री चौहान || कलेक्टर सपरिवार पहुंचे वृद्धाश्रम || राजस्व अधिकारी शीघ्र करें न्यायालयीन प्रकरणों का निराकरण || पत्रकारो के समक्ष व्ही.व्ही.पी.ए.टी. मशीन का प्रदर्शन || आदर्श आचरण संहिता का पालन सुनिश्चित करनें के निर्देश || मतदान केन्द्रों की सूची का विक्रय मूल्य घोषित || प्रेक्षक के लिये लाईजनिंग आफीसर नियुक्त || 5 उड़नदस्ता टीमे गठित || चित्रकूट विधानसभा उप निर्वाचन के लिये 2 वी.एस.टी टीम गठित || चित्रकूट विधानसभा उप निर्वाचन के लिये 8 एस.एस.टी टीम गठित
अन्य ख़बरें
महाकाल मन्दिर में जल द्वार के पास आम और खास दर्शनार्थी एकसाथ होकर भगवान महाकाल के दर्शन करेंगे
महाशिवरात्रि पर्व की व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में एसपी ने किया निरीक्षण
उज्जैन | 11-फरवरी-2017
 
 
   
   महाशिवरात्रि पर्व 24 फरवरी को मनाया जायेगा। श्री महाकालेश्वर मन्दिर में पर्व की व्यापक व्यवस्थाएं की जा रही हैं। दर्शनार्थियों को भगवान महाकाल के कम समय में दर्शन लाभ हो, इसकी पुलिस प्रशासन एवं जिला प्रशासन द्वारा व्यापक तैयारियां की जा रही हैं। पुलिस अधीक्षक श्री एमएस वर्मा द्वारा पुलिस अधिकारी एवं श्री महाकालेश्वर मन्दिर प्रबंध समिति के प्रशासक एवं सहायक प्रशासनिक अधिकारियों के साथ श्रद्धालुओं की दर्शन व्यवस्था एवं प्रवेश व्यवस्था का मुआयना शनिवार 11 फरवरी को किया गया। इस दौरान पुलिस अधीक्षक ने सम्बन्धित अधिकारियों को दर्शन व्यवस्था से सम्बन्धित आवश्यक बिन्दुओं के बारे में दिशा-निर्देश दिये। महाकाल मन्दिर में जल द्वार के पास से आम और खास दर्शनार्थी एकसाथ जाकर नन्दी हॉल के पीछे लगी आठ रेलिंगों से भगवान महाकाल के दर्शन करेंगे।
महाशिवरात्रि पर्व पर दर्शन व्यवस्था
   महाशिवरात्रि पर्व पर भगवान महाकाल के दर्शन के लिये चार प्रवेश द्वार रहेंगे। सामान्य दर्शनार्थियों के लिये हरसिद्धि चौराहा से पैदल चलकर महाकाल घाटी, महाकाल मुख्य द्वार के सामने से होते हुए माधव न्यास (कार पार्किंग) के जिकजेक से स्थायी जिकजेक होते हुए फेसिलिटी सेन्टर से प्रवेश रहेगा। इसी प्रकार 151 की रसीद लेने वाले दर्शनार्थियों के लिये व्यवस्था बेगमबाग वाले रोड से शंख चौराहा होते हुए फेसिलिटी सेन्टर से प्रवेश रहेगा। वीआईपी दर्शनार्थियों की प्रवेश व्यवस्था महाकाल प्रवचन हॉल से रहेगी। दिव्यांग एवं पत्रकारों के प्रवेश की व्यवस्था भस्म आरती गेट से रहेगी।
तीन स्थानों पर रहेंगे जूता स्टेण्ड
   निरीक्षण के दौरान पुलिस अधीक्षक श्री वर्मा ने बताया कि हरसिद्धि की ओर से आने वाले दर्शनार्थियों के लिये जूता स्टेण्ड विक्रम टीले के सामने वाले रोड पर रहेगा। इसी तरह दूसरा जूता स्टेण्ड महाराजवाड़ा स्कूल परिसर में और 151 की रसीद लेने वाले दर्शनार्थियों के लिये जूता स्टेण्ड श्री महाकालेश्वर भक्त निवास के पीछे बेगमबाग वाले रोड पर रहेगा। पुलिस अधीक्षक ने सम्बन्धितों को निर्देश दिये हैं कि जूता स्टेण्ड एवं प्रवेश व्यवस्था आदि के बोर्ड जगह-जगह लगाये जायें, ताकि दर्शनार्थियों को आने-जाने एवं जूता रखने में आसानी रहे।
पार्किंग व्यवस्था
    महाशिवरात्रि पर्व पर आने वाले दर्शनार्थियों के वाहनों की पार्किंग व्यवस्था भी अलग-अलग स्थानों पर की गई है। मन्दिर के आसपास नोव्हीकल झोन रहेगा। किसी के भी वाहन नहीं आने दिये जायेंगे। पार्किंग व्यवस्था हरसिद्धि की पाल, नरसिंह मन्दिर की ओर तथा नूतन स्कूल चारधाम की ओर रहेगी। वीआईपी आदि के वाहन पार्किंग की व्यवस्था श्री महाकालेश्वर भक्त निवास के पीछे रहेगी। पुलिस अधीक्षक ने निरीक्षण के दौरान पुलिस अधिकारियों को महाकाल मन्दिर के सामने जिकजेक के समीप मेनरोड की दुकानें तथा निर्गम द्वार की ओर लगी समस्त दुकानों को हटाने के निर्देश दिये। पुलिस अधीक्षक ने महाकाल मन्दिर के मुख्य गेट से चारों प्रवेश द्वारों का निरीक्षण कर सम्बन्धितों को आवश्यक निर्देश दिये। उन्होंने निर्देश दिये कि सामान्य दर्शनार्थियों के प्रवेश द्वार 151 की रसीद लेने वालों के प्रवेश द्वार, दिव्यांग एवं पत्रकारों के प्रवेश द्वार तथा वीआईपी प्रवेश द्वार के जगह-जगह बोर्ड लगाये जायें, ताकि दर्शनार्थियों को सुविधा हो। पुलिस अधीक्षक ने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि सभी टर्निग पाइंटों पर पुलिस जवानों को तैनात किया जाये और प्रमुख-प्रमुख स्थलों पर पुलिस अधिकारियों को तैनात किया जाये।
दर्शनार्थियों के साथ मधुर व्यवहार हो
    पुलिस अधीक्षक ने निरीक्षण के दौरान पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिनकी भी पुलिस जवानों एवं पुलिस अधिकारियों की ड्यूटी लगायें, उन्हें सख्त हिदायत दें कि वे ड्यूटी के दौरान दर्शनार्थियों के साथ मधुर व्यवहार रखें। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से सुचारू रूप से एवं अपने मृदु व्यवहार से सिंहस्थ में भगवान महाकाल के श्रद्धालुओं को दर्शन कराये, वैसे ही महाशिवरात्रि पर्व पर भी उन्हें दर्शन करवाने में अपनी अहम भूमिका का निर्वहन करें।
 
(250 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
सितम्बरअक्तूबर 2017नवम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2526272829301
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
303112345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer