समाचार
|| राज्यपाल श्रीमती पटेल ने किया खजुराहो नृत्य महोत्सव का शुभारंभ || अब मिलेगा विटामिन "ए" एवं विटामिन "डी" युक्त सांची मिल्क || राज्यपाल श्रीमती पटेल ने किया खजुराहो नृत्य महोत्सव का शुभारंभ || जिन्होंने 8 माह से उचित मूल्य राशन नहीं लिया है, उनके नाम हटाए जाएं || सभी विभाग सीएम हेल्पलाइन पर लंबित शिकायतों का शीघ्र निराकरण करे - कलेक्टर श्री श्रीवास्तव || जल उपभोक्ता संस्थाओं के सदस्यों के लिए मतदान 11 मार्च को || राज्य-स्तरीय लघु उद्योग संवर्धन बोर्ड का पुनर्गठन || पाँचवां राज्य वित्त आयोग गठित : पूर्व मंत्री श्री कोठारी अध्यक्ष मनोनीत || 10वीं और 12वीं की परीक्षा के एडमिट कार्ड जारी || पासपोर्ट के लिए अब आईडी प्रूफ में ई-आधार भी मान्य
अन्य ख़बरें
कलेक्टर के निरीक्षण के दौरान मिली कई खामियां
कहीं छात्र नहीं आते, तो कहीं मध्यान्ह भोजन नहीं मिलता
रायसेन | 11-जनवरी-2017
 
    सांची विकासखण्ड के ग्राम पैमत, वनगवां तथा अल्ली के स्कूल, आंगनबाड़ियों का कलेक्टर श्रीमती भावना वालिम्बे ने निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कई चौकाने वाली जानकारी सामने आई। कहीं मध्यान्ह भोजन का वितरण ही नहीं हो रहा है तो कहीं बच्चों की उपस्थित 10 फीसदी भी नहीं मिली। कलेक्टर श्रीमती वालिम्बे ने भ्रमण के दौरान उपस्थित ग्रामवासियों से कहा कि सरकार के साथ-साथ उन्हें भी आंगनबाड़ी, स्कूलों में बच्चों एवं शिक्षकों की उपस्थिति तथा मध्यान्ह भोजन की नियमित मॉनीटरिंग करना चाहिए ताकि व्यवस्था में सुधार लाया जा सके।
    ग्राम अल्ली में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने बताया कि पिछले पांच दिनों से खाना ही नहीं मिला है और जब भी मिलता है तो उपस्थित बच्चों के मान से बहुत कम आता है। इस आंगनबाड़ी केन्द्र के सुल्ताना और साबिस्ता सहित अन्य बच्चों ने बताया कि हमें तो कभी नाश्ता मिला ही नहीं है। इस आंगनबाड़ी केन्द्र में 100 से अधिक बच्चे हैं। कलेक्टर श्रीमती वालिम्बे ने इसे गंभीरता से लेते हुए महिला बाल विकास अधिकारी को मध्यान्ह भोजन बनाने और वितरण करने वाले समूह तथा सुपरवाईजर एवं अन्य संबंधित अधिकारियों, कर्मचारियों के विरूद्ध कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं।
    ग्राम अल्ली के हाईस्कूल का निरीक्षण करने के दौरान यह जानकारी मिली कि इस स्कूल में 300 से अधिक बच्चे दर्ज हैं, लेकिन उपस्थिति 10 फीसदी से अधिक नहीं थी। कलेक्टर द्वारा पूछे जाने पर शिक्षकों ने कोई संतोषजनक जबाव भी नहीं दिया। शिक्षकों की उपस्थिति पंजी का निरीक्षण करने के दौरान रानू जैन अनुपस्थित मिली। पूछे जाने पर स्कूल प्रभारी ने बताया कि उनका दूरभाष आया था कि वे प्रशिक्षण लेने जा रही हैं। ग्राम अल्ली के हाईस्कूल में कक्षा सातवीं में 30 में से 13 छात्र ही उपस्थित थे। कक्षा 6वीं में 26 छात्रों में से 6 छात्र, कक्षा 5वीं में 20 में से 5, कक्षा 4 में 27 में से 13, कक्षा दूसरी में 25 में से 13 तथा कक्षा पहली में 29 में से आठ छात्र ही उपस्थित थे।
    ग्राम पैमत के निरीक्षण के दौरान 90 प्रतिशत छात्रों की उपस्थिति मिली। श्रीमती वालिम्बे ने कक्षा 10वीं के छात्र-छात्राओं से पढ़ाई के संबंध में बात की। कलेक्टर ने कक्षा 10वीं की रीता वर्मा से पाठ भी पढ़वाया। यहां के शिक्षक ने बताया कि इस स्कूल का शत-प्रतिशत रिजल्ट रहता है और बच्चे भी कड़ी मेहनत करते हैं और नियमित स्कूल आते हैं। कलेक्टर श्रीमती वालिम्बे ने छात्रों को खूब पढ़ने और आगे बढ़ने के लिए कहा। पैमत के आंगनबाड़ी केन्द्र का निरीक्षण करने पर कार्यकर्ता ऊषा ने बताया कि यहां समूह द्वारा कभी नाश्ता नहीं दिया जाता है और आज भोजन भी नहीं मिला है। इस आंगनबाड़ी में 50 बच्चे दर्ज हैं लेकिन 25 बच्चों का ही भोजन आता है।
    ग्राम वनगवां का निरीक्षण करने के दौरान कलेक्टर श्रीमती वालिम्बे ने सरपंच से अतिरिक्त कक्ष के अधूरे निर्माण के बारे में जानकारी ली और उसे शीघ्र पूर्ण कराने के निर्देश दिए। मौके पर उपस्थित जिला पंचायत के श्री प्रवीण झोपे से इस संबंध में शेष राशि जारी करने तथा कार्य शीघ्र पूर्ण कराए जाने के निर्देश दिए। श्रीमती वालिम्बे ने वनगवां में ही हाईस्कूल भवन का अवलोकन किया। यह भवन जून 2016 से बनकर तैयार है लेकिन पहुंच मार्ग नहीं होने के कारण अभी इसमें स्कूल नहीं लगाया जा रहा है। कलेक्टर श्रीमती वालिम्बे ने उपस्थित अधिकारियों को जनभागीदारी एवं अन्य प्रावधान के तहत सड़क बनवाने के लिए कहा ताकि स्कूल प्रारंभ किया जा सके।
(406 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2018मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2930311234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627281234
567891011

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer