समाचार
|| आपदा प्रबंधन की बैठक 29 मई को || एकीकृत वित्तीय प्रबंधन का प्रशिक्षण आज || जिले में आदि शंकराचार्य की मूर्ति के लिये धातु संग्रहण के महाभियान का एक से 30 जून तक आयोजन || जिले में 15 जून से 15 जुलाई 2017 तक दस्तक अभियान का आयोजन || रियल एस्टेट रेगुलेटरी एक्ट के प्रावधानों पर अमल सुनिश्चित किया जाए || आई.एफ.एम.आई.एस. से ऑनलाइन वेतन आहरण संबंधी प्रशिक्षण 27 मई को || जी.एस.टी. के लिए जागरूकता कार्यशालाओं का आयोजन जारी || स्कालरशिप के लिये ऑनलाइन आवेदन भरे जायेगें || खाद्य सुरक्षा के 3 प्रकरणों में अनावेदको पर 60 हजार रूपये की शास्ति अधिरोपित || मल्टी टास्किंग स्टाफ भर्ती परीक्षा निरस्त
अन्य ख़बरें
किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा का लाभ उठाऐ- कलेक्टर
बीमा कराने की अंतिम तिथि 16 जनवरी निर्धारित, पटवारी, ग्रामसेवक 6-7 जनवरी को करेंगे भ्रमण
भिण्ड | 04-जनवरी-2017
 
   
    कलेक्टर डॉ इलैया राजा टी ने कहा है कि जिले के अऋणी किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत रबी फसलो का बीमा कराकर लाभ उठावे। बीमा कराने की अंतिम तिथि 16 जनवरी 2017 निर्धारित की गई है। इस दिशा में पटवारी, ग्रामसेवक 6-7 जनवरी 2017 को गांव-गांव भ्रमण कर किसानों को बीमा का लाभ दिलाने के लिए भ्रमण करेंगें।
    कलेक्टर डॉ इलैया राजा टी ने अऋणी किसानों से आग्रह किया है कि वे अपनी रबी फसलो को प्राकृतिक आपदा से होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ लेने के लिए आगे आए। इस योजना में किसानों को कम प्रीमियम देने की सुविधा दी गई है। बीमा कंपनियां खरीफ फसलो के लिए जो प्रीमियम रेट तय करेगी, किसानों को उसमें सिर्फ 2 प्रतिशत देना होगा। रबी फसलो के प्रीमियम रेट का सिर्फ डेढ़ फीसदी किसान देंगे। इसीप्रकार बागवानी फसलो के मामले में किसानों को 5 प्रतिशत प्रीमियम देना होगा। बाकी प्रीमियम केन्द्र और राज्य की सरकार बराबर देगी। कम से कम 25 प्रतिशत क्लेम राशि सीधे किसान के बैंक खाते में आएगी। स्कीम फसल 2016 से लागू की जा चुकी है। उदाहरण के लिए किसान बीमित राशि 1 लाख रूपए प्रीमियम रेट 10 प्रतिशत यानि 10 हजार रूपए केन्द्र सरकार देगी 4 प्रतिशत यानि 4 हजार रूपए, राज्य सरकार बहन करेगी 4 प्रतिशत यानि 4 हजार रूपए, किसानो को मात्र 2 प्रतिशत यानि 2 हजार रूपए देना होगा। छोटा प्रीमियम बडा लाभ अऋणी किसान लेकर अपनी रबी फसल का बीमा 16 जून 2017 करा सकते है।     
    कलेक्टर ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत किसानों को लाभान्वित करने की दिशा में जिले के पटवारी एवं कृषि विभाग के ग्रामसेवक प्रत्येक ग्राम का भ्रमण कर लाभ दिलाने की दिशा में किसानों को 6 एवं 7 जनवरी 2017 गांव-गांव जाकर प्रेरित करेंगे। इसलिए किसान भाई प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत उपज नुकसान के आधार पर आग लगने के अलावा बिजली गिरने, तूफान, ओला पडने, चक्रवास, अन्द्रण, बवंडर, बाढ, जल भराव, जमीन धसने, सूखा, खराब मौसम, कीट एवं फसल को होने वाली बीमारियां आदि जोखिम से फसलो को होने वाले नुकसान को शामिल किया गया है। फसल बीमा एक ऐसा बीमा कवर है। जिसमें किसानो की प्रभावित होने वाली फसलो के सारे नुकसान से सुरक्षा का लाभ प्राप्त कर सकते है।  
    उप संचालक कृषि श्री डीएस कुशवाह ने बताया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत फसल कटाई के बाद खेत में पडी हुई फसल को 14 दिन के भीतर चक्रवात और बेमौसम बरसात से नुकसान  होने  पर  भी  खेतवार  आंकलन करके भुगतान की सुविधा प्रदान की गई है। बीमा की गई फसल की खराब मौसम के कारण बुवाई-रूपाई न कर पाने पर बीमा मूल्य राशि का 25 फीसदी तक सीधे किसान के खाते में जमा करने का प्रावधान किया गया है।
    इस नई योजना में स्मार्ट फोन से फसल कटाई के आंकलन की तस्वीरे खीचकर सर्वर पर अपलोड की जाएगी। इससे फसल कटाई के आंकडे जल्दी से जल्दी बीमा कंपनी को मिल सकेंगे। इससे दावो का भुगतान करने में लगने वाले समय को काफी कम किया जाएगा। रिमोर्ट सेंसिंग और ड्रोन जैसी तकनीक के ईस्तेमाल से फसल कटाई प्रयोग की संख्या को कम करने में और नुकसान के आंकलन में सहायता मिलेगी। इस योजना में बीमित राशि जिला स्तर तकनीकी समिति (डीएलटीसी) द्वारा उस फसल के लिए तय वित्त पैमाने के बराबर होगी।
(142 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2017जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
24252627282930
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer