समाचार
|| केंट विधायक ने लिया दो जुडवां बच्चियों को गोद "स्नेह सरोकार योजना" || छोटे और मध्यम उद्योगों का सम्मेलन कटनी में 8-9 अप्रैल को || अनुसूचित क्षेत्र के नगरीय निकायों के चुनावों को लेकर बैठक आज || मातृ और शिशु स्वास्थ्य मिशन का गठन || आईपीएल मैच में सुरक्षा एवं कानून व्यवस्था पहली प्राथमिकता || अप्रैल माह का वेतन आई.एफ.एम.आई.एस. साफ्टवेयर से आहरित होगा || विक्रमादित्य संगीत अलंकरण आज || अपनी जरूरत और दैनिक चर्या में लौटा खरगोन || आयुष राज्यमंत्री श्री सिंह आज कृषि उपज मण्डी के कार्यक्रम में शामिल होगें || पोस्ट आफिस पासपोर्ट सेवा केन्द्र का उद्घाटन आज
अन्य ख़बरें
आवास योजना के तहत 9300 हितग्राहियों को स्वीकृति पत्र वितरित
मकान बनाने में गड़बड़ी करने वालो के विरूद्ध पुलिस में प्रकरण दर्ज होगा- श्री मीणा
उमरिया | 28-दिसम्बर-2016
 
   प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अंतर्गत हितग्राहियों के जिला स्तरीय उन्मुखी कार्यक्रम में जिले के 9300 हितग्राहियों को स्वीकृति पत्र का वितरण करते हुए जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीएच एस मीणा ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना से हर गरीब पक्के मकान में सर्व सुविधा युक्त रह सकेगा। उन्होंने कहा कि प्रत्येक हितग्राही को 1.50 लाख रू. तक उपलब्ध कराया जा रहा है, जिसमें प्रथम किस्त 40 हजार रू. का एडवांस, कुर्सी तक बनाकर फोटो सहित आनलाइन अपलोड करने पर 40 हजार की दूसरी किस्त, दरवाजा तक बनाने के बाद प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने के बाद 40 हजार की तीसरी किस्त और पूरा कम्पलीट होने पर पात्रतानुसार 12 हजार रू. का शौचालय और मनरेगा के अंतर्गत खुद के द्वारा 95 दिन तक की मजदूरी भी दी जाएगी।
   मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री मीणा ने हितग्राहियों से कहा है कि वे अपना घर मानकर निर्धारित मापदण्ड के अनुरूप मजबूत एवं खूबसूरत बनायें जिससे आने वाली पीढ़ी तक के लिए यह भवन यादगार के रूप में बना रहे। इस कार्य में किसी को भी पैसे देने की आवश्यकता नही है। यदि इसमें गडबडी की शिकायत मिली तो संबंधित के विरूद्ध पुलिस प्रकरण दर्ज कराने में कोताही नही बरती जाएगी।
    हितग्राहियों के जिला स्तरीय उन्मुखीकरण कार्यक्रम में कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकीय सेवा श्री एपी सिंह ने हितग्राहियों को समझाइश दी कि घर की नींव से लेकर छत तक एवं प्लास्टर आदि का कार्य मार्गदर्शिका में दिये गये मापदण्ड के अनुरूप कराएं जिससे प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बनाया घर जीवन पर्यन्त तक बना रहे। उन्होंने कहा कि आवास की नींव एवं क्लिंथ, चिन्हित ड्राइंग के अनुरूप अनुभवी मिस्त्री एवं उपयंत्री से कराएं। निर्धारित मात्रा में कालम खड़ा करें, जिसमें लोहा, गिट्टी, सीमेंट एवं रेता अनुपातिक रूप में डाले। दीवार में पके हुए सही ईटे का उपयोग करें और तराई का कार्य उपयंत्री की सलाह पर करें।
   उन्होने कहा कि छत के स्लेब में निर्धारित मात्रा में लोहा डाले, और सेटरिंग मजबूत और चिकनी लगाएं, जिससे छत में प्लास्टर करने की आवश्यकता न हो। छत की तराई के लिए उपर मिट्टी की क्यारी बनाकर पानी भरें जिससे भरपूर तराई हो सके। सेटरिंग 21 दिन के बाद ही खोले तो निश्चित रूप से आपका मकान पत्थर की दीवार साबित होगा।
   श्री ए पी सिंह ने हितग्राहियों को सलाह दी है कि प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के लिए पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा दी गई मार्गदर्शिका में दर्शायें गये मकान के माडल के अनुरूप ही मकान बनाये और यदि कहीं कोई कठिनाई हों तो उपयंत्रियों से तकनीकी सलाह लें।
मुख्यमंत्री के धार (मनावर) में आयोजित कार्यक्रम का उमरिया में लाइव प्रदर्शन
   मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के हितग्राहियों को स्वीकृति पत्र वितरित किया जिसका प्रदेश के सभी जिलो के साथ साथ उमरिया जिले में भी लाइव प्रदर्शन दिखाया गया। इस कार्यक्रम में केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री श्री नरंेद्र सिंह तोमर तथा प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री गोपाल भार्गव सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।
   मुख्यमंत्री ने अपने उदबोधन में कहा कि अपने लिए सभी जीते है, जीना वह है जो देश के लिए जिए। ऐसा जीवन सुंदर लाल पटवा जी ने जिया। जब वे मुख्यमंत्री थे तब वे अन्त्योदय योजना की शुरूआत की थी। गरीब की जिंदगी में नया सवेरा लाने के लिए उन्होंने दीन दुखियों के आंसू पोंछने का कार्य किया था जो  भगवान के दर्शन से कम नही था।
   मुख्यमंत्री ने कहा कि रोटी कपड़ा और मकान, पढ़ाई,दवाई और मान सम्मान बढ़ाने के लिए गरीबों को एक रू. किलो चावल, गेहूं, नमक प्रदाय किया जा रहा है। इस पर कतिपय विरोधियों ने धन लुटाने का निर्णय बताया लेकिन वर्षो से लूटने वाले गरीबो पर यह लुटाना सही न्याय निरूपित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि हर गरीब को रहने के लिए जमीन का टुकड़ा एवं रहने के लिए घर बनवाया जाएगा। सरकारी जमीन नही होने पर जरूरत पड़ी तो निजी जमीन खरीदकर सरकार उन्हें घर बनाने के लिए जमीन उपलब्ध करायेगी।
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मनावर में 31 हजार मकान के स्वीकृति पत्र वितरित करते हुए कहा कि प्रदेश में 3 लाख 25 हजार गरीबों को आज स्वीकृति पत्र दिया जाएगा। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना में लेन देन की गडबडी होने पर कलेक्टर एवं सीईओ के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी। सभी पात्र हितग्राहियों की पंचायतों में सूची लगाई जाएगी। उन्होने संकल्प दिलाया कि मकान बनाने के लिए एक पैसे नही देंगे। प्रारंभिक स्तर पर जवाबदेही सीईओ जनपद एवं जिला पंचायत की होगी।
विभिन्न विभागों ने प्रदर्शनी के माध्यम से दी योजनाओं की जानकारी
   प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत हितग्राहियों के जिला स्तरीय उन्मुखीकरण कार्यक्रम में स्थानीय स्टेडियम ग्राउण्ड में विभिन्न विभागों द्वारा स्टाल लगाकर विभागीय योजनाओं की जानकारी दी गई वही छायाचित्र के माध्यम  विकास को प्रदर्शित किया गया  जिसका उपस्थित जनों ने लाभ उठाया।
   इस दौरान ग्रामीण विकास द्वारा जनपद पंचायत करकेली, मानपुर, पाली, लोक सेवा प्रबंधन, मत्स्य विभाग, स्कूल शिक्षा विभाग, आदिम जाति कल्याण विभाग, पंचायत एवं सामाजिक न्याय सहित अन्य विभागों ने प्रदर्शनी लगाकर उपस्थित जनों को ब्रोसर एवं पंपलेट वितरित किया। साथ ही विभागीय योजनाओं की जानकारी से भी अवगत कराया।
   जनसंपर्क विभाग द्वारा आगे आये लाभ उठाएं, लाडली लक्ष्मी योजना, मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना, निशक्त जन कल्याण के तहत उड़ने के लिए समूचा आकाश, खाद्य सुरक्षा, उज्जवला योजना, मेधावी छात्रवृत्ति एवं प्रोत्साहन, स्वच्छ भारत के तहत शौचालय निर्माण के प्रेरणादायी प्रदर्शन छायाचित्रों के माध्यम से किया गया। इस दौरान जनसंपर्क विभाग द्वारा फोल्डर एवं ब्रोसर भी वितरित किया गया जिसमें मध्यप्रदेश गान, सकारात्मक पहल से बदलती तस्वीर, मध्यप्रदेश पुलिस जन और जीवन की पूरी सुरक्षा, सबके लिए सुलभ स्वास्थ्य, आधी आबादी का पूरा साथ, लोक सेवा गारण्टी अधिनियम आदि शामिल है।
(88 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
फरवरीमार्च 2017अप्रैल
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272812345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer